एडवांस्ड सर्च

घाटी में 42वें दिन भी कर्फ्यू, अब तक 66 की मौत, 300 कश्मीरी युवा सेना में भर्ती

घाटी के तमाम इलाकों में अलगाववादियों के विरोध-प्रदर्शन अभी भी जारी है. गुरुवार को कश्मीर के लाइट इन्फैन्ट्री रेजिमेंट के नए रंगरूटों ने बना सिंह परेड ग्राउंड रंगरेथ में देश की सेवा करने की शपथ ली.

Advertisement
aajtak.in
स्‍वपनल सोनल नई दिल्ली, 19 August 2016
घाटी में 42वें दिन भी कर्फ्यू, अब तक 66 की मौत, 300 कश्मीरी युवा सेना में भर्ती सेना में भर्ती हुए 300 जम्मू-कश्मीर युवा

हिजबुल के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में शुक्रवार को 42वें दिन भी कर्फ्यू जारी है. अब तक हिंसा में मरने वालों की संख्या जहां एक ओर 66 हो गई है, वहीं गुरुवार को कश्मीर की आजादी के नारों को दरकिनार कर 300 स्थानीय युवा सेना में भर्ती हुए.

घाटी के तमाम इलाकों में अलगाववादियों के विरोध-प्रदर्शन अभी भी जारी है. गुरुवार को कश्मीर के लाइट इन्फैन्ट्री रेजिमेंट के नए रंगरूटों ने बना सिंह परेड ग्राउंड रंगरेथ में देश की सेवा करने की शपथ ली. जम्मू-कश्मीर के युवकों को ऐसे समय में सेना में शामिल किया जा रहा है, जब घाटी में कुछ युवकों द्वारा पथराव की घटना को लेकर राज्य सुर्खियों में है. राज्यपाल एनएन वोहरा ने सेना मे भर्ती हुए 106वें बैच का स्वागत किया है.


राज्यपाल ने पंद्रह कोर के जीओसी और जैकलाई के कर्नल ऑफ रेजि‍मेंट लेफ्टिनेट जनरल एसके दुआ व सेंटर के कमाडेंट एसजी चवान की प्रशिक्षुओं को बेहतर प्रशिक्षण देने के लिए सराहना की. राज्यपाल ने स्वार्ड ऑफ ऑनर जीतने वाले रीशू संबयाल को भी बधाई दी.

बहादुरी भरा है जैकलाई का इतिहास
पासिंग आउट परेड का निरीक्षण करने के बाद प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर के लोगों ने कठिन हालात में हमेशा बहादुरी दिखाई है. 1947 के कबायली हमले के समय लोगों ने सुरक्षाबलों को बहुत सहयोग दिया था. उस समय गठित हुई जैकलाई का इतिहास बहादुरी के किस्सों से भरा हुआ है. जैकलाई की धर्मनिरपेक्षता इसकी विशिष्ट पहचान है.

अलगाववादियों ने किया मार्च निकालने का आह्वान
दूसरी ओर, गुरुवार रात ओल्ड श्रीनगर इलाके में एक एंबुलेंस के ड्राइवर को गोली मार दी गई. इसके लिए भी सुरक्षाबलों पर आरोप लगाए जा रहे हैं. अलगाववादी नेताओं ने लोगों से बडगाम जिले के अरीपंथन गांव की ओर से मार्च करने का आह्वान किया है, जहां 15 अगस्त को विरोध प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाबलों की फायरिंग में 4 लोग मारे गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay