एडवांस्ड सर्च

कोरोना लॉकडाउन के माहौल में दूरदर्शन फिर प्रसारित करेगा रामायण-महाभारत

रामायण उस दौर का टीवी शो था जब टीवी पर एक्टर्स को भगवान का किरदार निभाते लोग उन अभिनेताओं को वाकई राम का रूप मान लेते थे और जिस भी शहर या गांव-कस्बे में ये कलाकार जाया करते थे उन्हें भगवान सरीखा ही सम्मान दिया जाता था.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 26 March 2020
कोरोना लॉकडाउन के माहौल में दूरदर्शन फिर प्रसारित करेगा रामायण-महाभारत रामायण टीवी शो का एक सीन

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन किया गया है. ऐसे में लोग घरों में रहकर अलग-अलग तरीकों से अपना वक्त काट रहे हैं. मनोरंजन इंडस्ट्री पर कोरोना वायरस की चोट पड़ी है और अब न तो नई फिल्में रिलीज हो रही हैं और ना ही टीवी शोज की शूटिंग हो पा रही है. ऐसे में तकरीबन सभी टीवी चैनल्स शोज के रिपीट टेलीकास्ट दिखाने के लिए मजबूर हैं. दूरदर्शन ने भी फैसला किया है वो एक दौर के बेहद लोकप्रिय टीवी शो रामायण और महाभारत का रिपीट टेलीकास्ट करेगा.

रामायण और महाभारत दूरदर्शन के सबसे लोकप्रिय टीवी शोज में हैं. ये वो शोज हैं जिन्होंने इतिहास रचा और इनमें काम करने वाले सभी सितारे अपने आप में लीजेंड बन गए. रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रसार भारती के शशि शेखर ने ट्विटर पर एक यूजर के सवाल का जवाब देते हुए ये खबर जारी की है और बताया है कि ये शोज किस वक्त प्रसारित किए जाएंगे इसका टाइम स्लॉट भी जल्द ही बता दिया जाएगा. बता दें कि हाल ही में रामायण की स्टार कास्ट द कपिल शर्मा शो पर आई थी.

यहां कपिल शर्मा से बातचीत के दौरान सभी ने जमकर मस्ती की और ये एपिसोड काफी पसंद किया गया. रामायण उस दौर का टीवी शो था जब टीवी पर एक्टर्स को भगवान का किरदार निभाते लोग उन अभिनेताओं को वाकई राम का रूप मान लेते थे और जिस भी शहर या गांव-कस्बे में ये कलाकार जाया करते थे उन्हें भगवान सरीखा ही सम्मान दिया जाता था. द कपिल शर्मा शो पर बातचीत के दौरान शो की स्टार कास्ट ने उस दौर में शूटिंग के दौरान के तमाम किस्से साझा किए.

VIDEO: मुंह पर पॉलिथीन ढक शेफाली शाह ने बताया कितना खतरनाक है कोरोना

'दाल रोटी खाओ..' लॉकडाउन के बीच वायरल होने लगा धर्मेंद्र का ये सॉन्ग

रिकॉर्ड ब्रेकिंग साबित हुआ शो

बता दें कि रामानंद सागर कृत रामायण सन 1987 में शूट हुई थी और बी.आर.चोपड़ा कृत महाभारत की शूटिंग सन 1988 में हुई थी. भारतीय मायथलॉजी को विज्ञान की मदद को पहली बार छोटे पर्दे पर उतारा गया था जिसकी वजह से न सिर्फ ये शोज बहुत ज्यादा देखे गए बल्कि इनकी लोकप्रियता ने आसमान की ऊंचाइयां छुईं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay