एडवांस्ड सर्च

'बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम' सेंसर की कैंची के बिना पास

सबसे अधिक विवादास्पद फिल्म होने का दावा करने वाली आगामी राजनीतिक फिल्म 'बुद्धा इन अ ट्रैफिक जाम' के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कहा है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म को बिना किसी कट के ही पास कर दिया है.

Advertisement
aajtak.in
दीपिका शर्मा/ IANS मुंबई, 13 April 2016
'बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम' सेंसर की कैंची के बिना पास फिल्म 'बुद्धा इन अ ट्रैफिक जाम'

सबसे अधिक विवादास्पद फिल्म होने का दावा करने वाली आगामी राजनीतिक फिल्म 'बुद्धा इन अ ट्रैफिक जाम' के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कहा है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म को बिना किसी कट के ही पास कर दिया है.

अग्निहोत्री ने फिल्म के ट्रेलर लॉन्च के मौके पर बताया, 'सेंसर बोर्ड के सदस्यों में से एक ने फिल्म देखने के बाद मुझसे बातचीत में कहा, 'इस फिल्म में कम से कम 150-170 कट होने चाहिए, लेकिन अगर हमने आपकी फिल्म में कट किए तो फिल्म का कोई मतलब नहीं रह जाएगा और हमें लगता है कि लोगों के लिए यह फिल्म देखना बेहद जरूरी है. इसलिए हम इसे बिना किसी कट के पास करेंगे.'

सेंसर बोर्ड के सदस्यों ने बाद में अग्निहोत्री को बताया कि कई नियम हैं जिनके अनुसार झंडों को जलते हुए और 'भारत माता' और '26 जनवरी' शब्दों के साथ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग नहीं दिखाया जा सकता.

अग्निहोत्री इन दृश्यों को हटाने के लिए तैयार थे, लेकिन बाद में एक सदस्य की आपत्ति के कारण फिल्म को इन दृश्यों को हटाए बिना ही पास कर दिया गया.

निर्देशक की अपनी जिंदगी से प्रेरित 'बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम' में भ्रष्टाचार और नक्सलवाद के मुद्दों को उठाया गया है. फिल्म में माही गिल और पल्लवी जोशी भी हैं। फिल्म 13 मई को रिलीज होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay