एडवांस्ड सर्च

अनुराग ने सीक्रेट बैलेट के प्रोड्यूसर को दिखाई न्यूटन, मिला ये जवाब

एक बार फिर न्यूटन के सपोर्ट में उतरे अनुराग कश्यप, सीक्रेट बैलट के प्रोड्यूसर को दिखाई न्यूटन, मिला ये जवाब....

Advertisement
aajtak.in
पूजा बजाज दिल्ली, 26 September 2017
अनुराग ने सीक्रेट बैलेट के प्रोड्यूसर को दिखाई न्यूटन, मिला ये जवाब अनुराग कश्यप

ऑस्कर 2018 के लिए भारत को रिप्रजेंट करने के लिए नॉमिनेट हुई न्यूटन को लेकर एक के बाद एक नए विवाद सामने आ रहे है. इसे ईरानी फिल्म 'सीक्रेट बैलेट' की कहानी पर आधारित बताया जा रहा है. डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने न्यूटन के सपोर्ट में जोरदार मोर्चा खोला हुआ है. उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए साबित किया कि न्यूटन, सीक्रेट बैलेट फिल्म की कॉपी नहीं है.

अनुराग कश्यप ने फेसबुक में लिखा है -जो लोग न्यूटन को सीक्रेट बैलेट की कॉपी मान रहे हैं उन्हें ये पता चलना चाहिए कि सीक्रेट बैलेट के प्रोड्यूसर मार्को मुलर का इस पर क्या कहना है. मैंने न्यूटन के डायरेक्टर्स से फिल्म के लिंक की कॉपी लेकर मार्को मुलर को भेजी. न्यूटन देखने के बाद मार्को मुलर ने कहा, ये बहुत ही सभ्य फिल्म है, और यकीनन ये हमारी फिल्म की कहानी से चुराई नहीं गई है. मैंने जब उनसे पूछा कि क्या मैं उनके न्यूटन फिल्म को देखने के बाद इस रिस्पॉन्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर सकता हूं तो उन्होंने साफ कहा हां बिलकुल आप मेरे बयान का इस्तेमाल कर सकते हैं.

बता दें कि इससे पहले भी अनुराग कश्यप न्यूटन के सपोर्ट में उतरे थे. उन्होंने ट्वीट करके कहा था-'सीक्रेट बैलेट' से 'न्यूटन' उतनी ही प्रेरित है, जितनी ‘द एवेंजर्स’ (हॉलीवुड फिल्म) ‘वतन के रखवाले’ से है. उन्होंने कहा, 'न्यूटन' को बर्लिन फिल्मोत्सव में पुरस्कार दिया गया था और मैं ये वादा कर सकता हूं कि वहां के क्यूरेटर एक साल में इतनी फिल्में देखते हैं, जितनी हम अपनी पूरी जिंदगी में नहीं देखते.

राजकुमार राव अभिनीत फिल्म एक सरकारी कर्मचारी के इर्द गिर्द घूमती है, जो छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित क्षेत्र में मतदान की निगरानी करने में संघर्ष कर रहा होता है, जबकि ‘सीक्रेट बैलेट’ एक महिला मतदान अधिकारी की एक दिन की कहानी बयां करती है, जो ईरान के लोगों को मतदान के लिए रजामंद करने की खातिर दूरदराज के इलाके में जाती है.

यही नहीं जब से न्यूटन, बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हुई बाकी बॉलीवुड फिल्मों से आगे निकल रही हैं तभी से फिल्म से जुड़े कई विवाद सामने आ रहे हैं. पहले इसे सीक्रेट बैलेट फिल्म की कहानी कॉपी बताया गया था और हाल ही में फिल्म के पोस्टर को भी सत्यजीत रे की फिल्म गणशत्रु से मिलता-जुलता कहा गया. ऑस्कर विजेता सत्यजीत रे की फिल्म गणशत्रु सन् 1990 में आई थी. बताया जाता है कि इस फिल्म की कहानी की प्रेरणा रे को नॉर्वे के रंगकर्मी हेनरिक इबसन के नाटक से मिली थी.

खैर इन सब विवादों के बावजूद न्यूटन को दर्शकों का भरपूर प्यार मिल रहा है. अब आगे देखना ये है कि ऑस्कर्स 2018 में ये फिल्म क्या भारत को जीत दिला पाती है या नहीं..

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay