एडवांस्ड सर्च

जोकोविच को खिताब, मरे का टूटा सपना

नोवाक जोकोविच ने बेहतरीन खेल का नजारा पेश करते हुए एंडी मरे का 75 साल बाद ग्रैंडस्लैम विजेता ब्रिटिश खिलाड़ी बनने का सपना तोड़कर आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष एकल का खिताब जीता.

Advertisement
aajtak.in
भाषामेलबर्न, 30 January 2011
जोकोविच को खिताब, मरे का टूटा सपना

नोवाक जोकोविच ने बेहतरीन खेल का नजारा पेश करते हुए एंडी मरे का 75 साल बाद ग्रैंडस्लैम विजेता ब्रिटिश खिलाड़ी बनने का सपना तोड़कर आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष एकल का खिताब जीता.

दुनिया के नंबर तीन सर्बियाई जोकोविच ने खिताबी मुकाबले में र्मे को लगातार सेट में 6-4, 6-2, 6-3 से हराकर अपना दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब हासिल किया. इससे पहले उन्होंने 2008 में आस्ट्रेलियाई ओपन के रूप में ही पहला ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट जीता था.

यह पिछले तीन साल में पहला ग्रैंडस्लैम फाइनल था जिसमें रोजर फेडरर या राफेल नडाल में से कोई नहीं था. जोकोविच ने पांचवीं वरीय मरे पर शुरू से दबदबा बनाये रखा और आखिर में जीत की खुशी में अपनी हाफपैंट निकाल दी.

मरे इस हार से बेहद निराश थे क्योंकि तीसरी बार वह किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पराजित हुए हैं. इससे पहले भी दोनों अवसरों पर लगातार सेट में हार गये थे. ब्रिटेन के लिये फ्रेड पैरी ने आखिरी बार 1936 में ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट जीता था और मरे की हार से ब्रिटिशवासियों को फिर से निराशा ही हाथ लगी.

मरे हालांकि मैच में किसी भी समय खिताब जीतने की स्थिति में नहीं दिखे. जोकोविच ने उन पर शुरू से दबाव बना दिया और दो घंटे 39 मिनट तक चले मैच में आसान जीत दर्ज की. यह जोकोविच का लगातार दूसरा ग्रैंडस्लैम फाइनल था. वह पिछले साल अमेरिकी ओपन के फाइनल में नडाल से हार गये थे.

दिलचस्प बात यह है कि 2007 में भी जब जोकोविच अमेरिकी ओपन में उप विजेता रहे तो उन्होंने इसके बाद आस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता था. तब उन्होंने फ्रांसीसी जो विल्फ्रेड सोंगा को हराया था.

जोकोविच और र्मे जब से जूनियर सर्किट में खेलते थे तभी से अच्छे मित्र हैं. यह ग्रैंडस्लैम में उनका पहला मुकाबला था. सर्बियाई खिलाड़ी ने कहा, ‘हम लंबे समय से एक दूसरे को जानते हैं और उसके खिलाफ खेलना वास्तव में मुश्किल था. आशा है कि आपको (मरे) ग्रैंडस्लैम जीतने का अगला मौका मिलेगा. मुझे पूरा विश्वास है कि आपके पास प्रतिभा है और आप यह मुकाम जरूर हासिल करोगे. ‘मरे ने बाद में कहा कि जोकोविच ने बेहतरीन खेल दिखाया और वह जीत का हकदार था. उन्होंने कहा, ‘पिछले साल की तुलना में मेरा खेल अच्छा था लेकिन आज नोवाक ने अविश्वसनीय रूप से बेहतरीन खेल का नजारा पेश किया. यह हार बहुत निराशाजनक है लेकिन आपको इसे स्वीकार करना होगा. ‘ इस जीत के बावजूद जोकोविच दुनिया के तीसरे नंबर के ही खिलाड़ी बने रहेंगे. नडाल अभी एटीपी रैंकिंग में शीर्ष पर जबकि फेडरर दूसरे स्थान पर हैं.

मरे की शुरुआत अपेक्षानुरूप नहीं रही और उनका पहला सर्विस गेम ही 14 मिनट तक चला जिसमें चार बार ड्यूस देखने को मिला . इस सेट में दोनों खिलाड़ियों ने नौवें गेम तक अपनी सर्विस बचाये रखी. र्मे जब 4-5 से पीछे चल रहे थे तब उन्होंने दसवें गेम में डबल फाल्ट किया और फिर अपना बैकहैंड नेट पर मार दिया. जोकोविच ने यह सेट 59 मिनट में अपने नाम किया.

र्मे इस मुकाम पर अपनी सर्विस बचाने में कामयाब रहे. उन्होंने अगले गेम में जोकोविच की सर्विस भी तोड़ दी जिससे स्कोर 5-2 हो गया. आंखों में कुछ परेशानी महसूस कर रहे र्मे हालांकि अपनी अगली सर्विस नहीं बचा पाये और जोकोविच ने क्रासकोर्ट विनर जमाकर दूसरा सेट भी जीत दिया.

तीसरे सेट की शुरुआत मरे ने जोकोविच की सर्विस तोड़कर की लेकिन सर्बियाई खिलाड़ी ने उन्हें इसका फायदा नहीं उठाने दिया और अगले गेम में ही ब्रेक प्वाइंट लेकर हिसाब बराबर कर दिया. इसके बाद भी र्मे अपने खेल में सुधार नहीं कर पाये उन्होंने चौथे गेम में छह ब्रेक प्वाइंट तो बचाये लेकिन सातवें में जोकोविच ने यह अंक हासिल कर लिया.

मरे ने हालांकि हार नहीं मानी और अगले गेम में जोकोविच की सर्विस तोड़ी और फिर अपनी दो ब्रेक प्वाइंट बचाकर अपनी सर्विस पर अंक बनाया और स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया. जोकोविच ने हालांकि जल्द ही र्मे की सर्विस तोड़ दी और फिर अपनी सर्विस बचाकर मैच जीत लिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay