एडवांस्ड सर्च

पिता की रचनाएं पढ़कर खुद को मजबूत बनाते हैं बिग बी

अमिताभ ने शनिवार को 'जन गीता' पढ़ी और अपने ब्लॉग पर लिखा पिता द्वारा मेरे लिए छोड़ी गई किताब रोजाना सुबह पढ़ता हूं, यह मुझे मजबूत बनाती है.

Advertisement
aajtak.in
दीपिका शर्मा मुंबई, 15 May 2016
पिता की रचनाएं पढ़कर खुद को मजबूत बनाते हैं बिग बी अमिताभ बच्चन

महानायक अमिताभ बच्चन ने बताया कि उन्हें रोजाना सुबह अपने दिवंगत पिता और कवि हरिवंश राय बच्चन की रचनाएं पढ़ना बेहद पसंद है. इससे उन्हें जिंदगी की कठिनाइयों से निपटने की शक्ति मिलती है. अमिताभ ने शनिवार को 'जन गीता' पढ़ी. यह उत्तरी भारतीय अवधी की भगवद गीता का काव्य है.

अमिताभ ने अपने ब्लॉग में लिखा , 'आज सुबह 'जन गीता' पढ़ी. इसका वर्णन करने के लिए एक उचित मंच की आवश्यकता होगी.' 'पीकू' स्टार ने लिखा, 'पिता द्वारा मेरे लिए छोड़ी गई किताब रोजाना सुबह पढ़ता हूं. यह मुझे मजबूत बनाती है. उनकी ताकत दिव्य है.'

हरिवंश राय बच्चन का निधन 2003 में हुआ था. उनकी 'मधुशाला' और 'अग्निपथ' जैसी कृतियां आज भी लोगों की पसंद हैं. 'पा' के अभिनेता को अक्सर हरिवंश राय की कविताओं को पढ़ते देखा जाता है और उन्होंने कई मौकों पर उन्हें 'अद्वितीय प्रतिभा' करार दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay