एडवांस्ड सर्च

कोरोना महामारी घोषित, भारत ने विदेश से आने वालों का वीजा किया सस्पेंड

पूरी दुनिया के लिए कोरोना महामारी बनकर उभरा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया है. भारत सरकार ने भी विदेश से आने वाले लोगों का वीजा 15 अप्रैल तक के लिए सस्पेंड कर दिया है.

Advertisement
aajtak.in
कमलजीत संधू नई दिल्ली, 12 March 2020
कोरोना महामारी घोषित, भारत ने विदेश से आने वालों का वीजा किया सस्पेंड वैश्विक महामारी बना कोरोना वायरस (तस्वीर- पीटीआई)

  • विदेश यात्रा से बचें भारतीयों को बचने की सलाह
  • अगर लौटे तो फिर 14 दिन के लिए रखे जा सकते हैं अलग

चीन, ईरान और इटली में महामारी बने कोरोना वायरस को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी महामारी घोषित किया है. भारत ने कोरोना वायरस के मद्देनजर विदेश से आने वाले लोगों का वीजा 15 अप्रैल तक के लिए सस्पेंड कर दिया है. इस प्रतिबंध से राजनायिकों, अधिकारियों, सयुंक्त राष्ट्र संघ और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के कर्मचारियों को छूट मिलेगी. यह प्रतिबंध 13 मार्च 2020 से ही लागू हो जाएगा.

सरकार ने यह भी कहा है भारतीय नागरिकों को कठोरतापूर्वक यह सलाह दी जाती है कि गैरजरूरी विदेशी यात्राएं न करें. अगर वे कहीं से भी यात्रा करके वापस लौटते हैं तो उन्हें कम से कम 14 दिन तक लोगों से अलग रखा जा सकता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है, ' हमारे आंकलन के मुताबिक COVID-19 अब महामारी बन चुका है. स्वास्थ्य संगठन पूरी दुनिया में फैल रहे इस वायरस की सक्रियता से चिंतित है. यह खतरनाक स्तर पर पहुंच रहा है.'

यह भी पढ़ें: कोरोना: इटली से आए 83 लोगों को सेना के निगरानी केंद्र में रखा गया

सरकार की ओर से कहा गया है कि जो भी विदेशी शख्स भारत आने की इच्छा रखता है, वह पहले भारतीय दूतावास से संपर्क करे. सभी भारतीय नागरिक और विदेशी नागरिकों को हिदायत दी जाती है कि अगर बेहद जरूरी न हो तो अनावश्यक यात्रा न करें. अगर वे भारत आते हैं तो उन्हें 14 दिन तक लोगों से अलग निगरानी में रखा जा सकता है.

भारत में कोरोना वायरस के 60 पॉजिटिव केस

कोरोना वायरस ने भारत को भी अपने चपेट में ले लिया है. COVID-19 से संक्रमित 60 मरीज भारत में भी हैं. कोरोना वायरस पर स्वास्थ्य मंत्रालय भी अलर्ट मोड पर है. स्वास्थ्य मंत्रालय में लगातार कई राउंड बैठक की जा रही है. दरअसल कोरोना वायरस पर निर्माण भवन में बैठक बुलाई गई थी. बुधवार को हुई इस बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर, हरदीप सिंह पुरी, नित्यानंद राय, अश्विनी चौबे समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद रहे. इस बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने की. बैठक के बाद ही यह फैसला हुआ है.

14 दिन के लिए निगरानी में रहेंगे विदेशी यात्री!

चीन, इटली, ईरान, कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी में जो भी भारतीय या विदेशी यात्री 15 फरवरी तक रहे हों, उन्हें भारत आने पर कम से कम 14 दिन के लिए अलग मेडिकल निगरानी में रखा जाएगा. 13 मार्च के बाद से ही यह व्यवस्था लागू हो जाएगी.

जमीनी सीमाओं पर भी प्रतिबंध लागू

भारत सरकार की ओर से जारी आदेश के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के तहत होने वाली आवाजाही पर भी तय चेक पोस्ट पर नजर रखी जाएगी. हर चेक पोस्ट पर स्क्रीनिंग की जाएगी. इसे अलग से गृह मंत्रालय की ओर से नोटिफाई किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: देश में बढ़ रहा कोरोना का कहर, जागरूकता के लिए अब धर्मगुरुओं का सहारा लेगी सरकार

es12rjiueaaryoa_031120111353.jfifकेंद्र सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी

यह भी पढ़ें: कोरोना से निपटने के लिए ईरान पहुंचा चीनी विशेषज्ञ दल, किया अस्पतालों का दौरा

क्या कहते हैं विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े?

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक COVID-19 वायरस का फैलाव बेहद तेजी से हो रहा है. प्रभावित देशों में इसकी संख्या 3 गुनी बढ़ रही है. दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 118,000 मामले सामने आ चुके हैं. 114 देशों में कोरोना वायरस फैल चुका है. इस वायरस की वजह से कुल 4,291 लोग जिंदगी गंवा चुके हैं. हजारों लोग अस्पतालों में जिंदगी मौत से जूझ रहे हैं. कोरोना वायरस महामारी को कोई भी देश हल्के में न ले. यह खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है, इस पर गंभीरता से सोचने की जरूरत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay