एडवांस्ड सर्च

जॉर्ज फ्लॉयड के सपोर्ट में उतरे स्टार्स पर अभय देओल का तंज- अपना देश भी देख लो

करीना कपूर खान, करण जौहर, प्रियंका चोपड़ा जैसे स्टार्स ने ब्लैक लाइव्स मैटर यानि अश्वेत लोगों की जिंदगी भी मायने रखती है जैसे हैशटैग का उपयोग करते हुए अमेरिका के अश्वेतों के आंदोलन को समर्थन किया है. हालांकि कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं जो इन सुपरस्टार सेलेब्स की हिप्पोक्रेसी पर सवाल उठा रहे है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 03 June 2020
जॉर्ज फ्लॉयड के सपोर्ट में उतरे स्टार्स पर अभय देओल का तंज- अपना देश भी देख लो अभय देओल

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद पूरे देश में बवाल मच गया है. कई शहरों में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं और कुछ जगहों पर ये प्रदर्शन हिंसक भी हुए हैं जिसके चलते कर्फ्यू लगाने की स्थिति भी कुछ राज्यों में आ गई है. भारत में भी कई सोशल मीडिया यूजर्स के साथ स्टार सेलेब्स ने भी इस मामले में अपनी राय रखी है.

करीना कपूर खान, करण जौहर, प्रियंका चोपड़ा जैसे स्टार्स ने ब्लैक लाइव्स मैटर यानि 'अश्वेत लोगों की जिंदगी भी मायने रखती है' जैसे हैशटैग का उपयोग करते हुए अश्वेतों के आंदोलन को समर्थन दिया है. हालांकि कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं जो इन सुपरस्टार सेलेब्स की हिप्पोक्रेसी पर सवाल उठा रहे हैं और इन सेलेब्स को सलाह दे रहे हैं कि अमेरिका से पहले इन लोगों को अपने देश में हो रहे अन्याय के खिलाफ मुखर होना चाहिए. कंगना रनौत के बाद एक्टर अभय देओल ने भी ऐसा ही बयान दिया है.

View this post on Instagram

Maybe it’s time for these now? Now that “woke” indian celebrities and the middle class stand in solidarity with fighting systemic racism in America, perhaps they’d see how it manifests in their own backyard? America has exported violence to the world, they have made it a more dangerous place, it was but inevitable that it would come back karmically. I’m not saying they deserve it, I’m saying look at the picture in it’s totality. I’m saying support them by calling out the systemic problems in your own country, because they turn out to be one and the same thing. I’m saying follow their lead but not their actions. Create your own actions, your own movement, relevant to your own country. That is what the black lives matter movement is all about! In the larger picture, there is no “us” and “them”. There is not a country that’s real. But a planet in peril. #migrantlivesmatter #minoritylivesmatter #poorlivesmatter Black Lives Matter (find out why not to use the hashtag and still support the movement).

A post shared by Abhay Deol (@abhaydeol) on

अभय देओल बोले, अपने आंदोलन खुद बनाइए

अभय ने एक तस्वीर शेयर की जिसमें लिखा था - अप्रवासियों, गरीबों और अल्पसंख्यकों की जिंदगी भी मायने रखती हैं. अभय ने अपने पोस्ट में लिखा- शायद अब इसका समय भी आ गया है? अब चूंकि कई सेलेब्स और मिडिल क्लास अमेरिका में नस्लभेद के खिलाफ अपनी राय रख रहा है, वे शायद देखना चाहेंगे कि उनके अपने देश में क्या हो रहा है?

उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका ने हिंसा को पूरी दुनिया में एक्सपोर्ट किया है. ऐसे में उनके कर्म के चलते अमेरिका को ये दिन देखना ही था. मैं ये नहीं कह रहा कि वे इसे डिजर्व करते हैं. मैं कह रहा हूं कि इसे एक बड़े स्तर पर देखने की कोशिश करिए. मैं कह रहा हूं कि अपने देश में चल रही गंभीर समस्याओं के बारे में बात करके उन्हें सपोर्ट करिए. उनकी लीड फॉलो करे, उनके एक्शन्स नहीं. क्योंकि आपको अपने एक्शन्स खुद क्रिएट करने हैं. अपने आंदोलन खुद बनाइए जो आपके देश के लिए प्रासंगिक हैं. ब्लैक लाइव्स मैटर का मूवमेंट यही है. ये हम और वो की लड़ाई नहीं है. ये किसी एक खास देश की लड़ाई नहीं है. ये पूरी पृथ्वी की लड़ाई है जो इस समय भारी जोखिम में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay