एडवांस्ड सर्च

राष्ट्रगान पर खड़े ना होने पर फैमिली को कहा आतंकवादी, ये एक्टर्स भी थे शामिल

बंगलुरू में एक फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान राष्ट्रगान के दौरान एक परिवार के खड़े ना होने पर उन्हें भला-बुरा कहने का मामला सामने आया है. इस ग्रुप में एक्टर अरुण गौड़ा और एक्ट्रेस बी वी ऐश्वर्या भी शामिल थीं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 29 October 2019
राष्ट्रगान पर खड़े ना होने पर फैमिली को कहा आतंकवादी, ये एक्टर्स भी थे शामिल फैमिली जिसे थियेटर में राष्ट्रगान पर खड़े ना होने पर भला बुरा कहा गया

बेंगलुरु में एक फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान राष्ट्रगान के दौरान एक परिवार के खड़े ना होने पर उन्हें भला-बुरा कहने का मामला सामने आया है. इस ग्रुप में एक्टर अरुण गौड़ा और एक्ट्रेस बी वी ऐश्वर्या भी शामिल थीं. ये घटना 23 अक्तूबर की है. थियेटर में मौजूद लोगों में से एक शख्स ने राष्ट्रगान पर खड़े ना होने वाले लोगों को पाकिस्तानी आतंकवादी तक कहा. सोशल मीडिया पर ये वीडियो वायरल हो रहा है.  

फैमिलो को कहा गया पाकिस्तानी आतंकवादी

गौड़ा और उनके चार साथी वहां मौजूद चार लोगों की फैमिली को भला-बुरा कहने लगे. इन चारों ने नेशनल एंथेम के दौरान ना खड़े होने का फैसला किया था. वहां मौजूद गौड़ा के एक दोस्त ने कहा, 'देश के लिए 52 सेकेंड्स नहीं निकाल सकते हो, लेकिन यहां बैठकर आराम से तीन घंटे की फिल्म देख सकते हो. क्या तुम पाकिस्तान के आतंकवादी हो?'

इसके अलावा वीडियो में देखा जा सकता है कि एक इंसान चिल्लाते हुए कहता है कि 'क्या तुम ये कह रहे हो कि राष्ट्रगान पर खड़े ना होना तुम्हारा चॉइस है ? ये तुम्हारा चॉइस नहीं है.' इसके बाद उस फैमिली की एक सदस्य कहती है कि इस मामले को जाने दो क्योंकि ये सिर्फ एक फिल्म है और अगर ज्यादा दिक्कत है तो केस फाइल करो. इस पर लोग कहते हैं कि 'हम केस फाइल करेंगे अगर जरुरत पड़ी तो.'

वही वहां मौजूद एक शख्स ने कहा, 'हमारे जवान कश्मीर में देश के लिए लड़ रहे हैं और तुम लोग यहां बैठे हो और राष्ट्रगान पर खड़े भी नहीं हो सकते हो. निकल जाओ यहां से' इसके अलावा लोगों ने भारत माता की जय के नारे भी लगाए. न्यूजमिनट की रिपोर्ट के अनुसार, ये घटना 23 अक्तूबर को पीवीआर ओरियन मॉल में हुई है. इस दौरान धनुष स्टारर तमिल फिल्म असुरन की स्क्रीनिंग चल रही थी.

सोशल मीडिया पर इस मामले में कई प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं जहां कई लोगों का कहना है कि राष्ट्रगान पर 52 सेकेंड्स के लिए खड़े ना होने पर आप देश के तौर पर भारत की इज्जत नहीं करते हैं वही कई लोगों ने ये भी कहा कि राष्ट्रगान सिनेमा हॉल में चलाना बेबुनियाद है. अगर कुछ लोग थियेटर में राष्ट्रगान के दौरान खड़े ना होने का फैसला करते हैं तो ये उन लोगों का निजी हक है. गौरतलब है कि इससे पहले भी कुछ घटनाएं सामने आ चुकी हैं जब थियेटर में कुछ लोगों के नेशनल एंथेम के दौरान खड़े ना होने के चलते काफी विवाद हुआ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay