एडवांस्ड सर्च

Film Review: बस नाम ही अच्छा है 'वन नाइट स्टैंड'

सनी लियोन स्टाटर फिल्म 'वन नाइट स्टैंड' रिलीज हो गई है. आइए जानते हैं कैसी है ये फिल्म.

Advertisement
aajtak.in
स्वाति गुप्ता मुंबई, 17 May 2016
Film Review: बस नाम ही अच्छा है 'वन नाइट स्टैंड' फिल्म 'वन नाइट स्टैंड' में सनी लियोन

फिल्म का नाम: 'वन नाइट स्टैंड'
डायरेक्टर: जैसमीन डी सूजा
स्टार कास्ट: सनी लियोन , तनुज वीरवानी, न्यारा बैनर्जी, नरेंद्र जेटली, खालिद सिद्दीकी, निनाद कामत
अवधि: 1 घंटा 37 मिनट
सर्टिफिकेट:
A
रेटिंग: 1.5 स्टार

'वन नाइट स्टैंड' जैसमीन डी सूजा की डायरेक्टर के तौर पर पहली फिल्म है. इसके पहले उन्होंने अपने पति टोनी डी सूजा की फिल्मों में उन्हें असिस्ट किया है, आइए जानते हैं आखिर कैसी है यह फिल्म:

कहानी:
यह कहानी है सेलिना (सनी लियोन) और उर्वील (तनुज वीरवानी) की, जिनके बीच वन नाइट स्टैंड होता है लेकिन उसके बाद इन दोनों की जिंदगी में काफी उलटफेर होने लगते हैं. एक तरफ जहां उर्वील बार बार सेलिना से मिलने की कोशिश करता है वहीं, सेलिना दुबारा उर्वील की शक्ल भी नहीं देखना चाहतीं.

इसी बीच उर्वील और उसकी पत्नी सिमरन (नायरा बैनर्जी) की शादी शुदा जिंदगी भी प्रभावित होने लगती है, सेलिना के बारे में सोच सोच कर उर्वील ,शराब के नशे में धूत रहने लगता है, वहीं सेलिना की जिंदगी की सच्चाई का भी पता चलता है और आखिरकार ट्विस्ट और टर्न्स के बीच फिल्म को अंजाम मिलता है, जिसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

स्क्रिप्ट:
फिल्म की कहानी की सोच तो अच्छी है लेकिन उसे परदे पर दर्शा पाने में डायरेक्टर विफल रही हैं. भवानी अय्यर की स्क्रिप्ट और बेहतर हो सकती थी. खास तौर पर सेकंड हाफ का हिस्सा. निरंजन अयंगर ने कुछ जगहों पर अच्छे डायलॉग्स भी लिखे हैं. फिल्म देखते वक्त आपको बांधे रख पाने में यह फिल्म सक्षम नहीं हो पाती. हालांकि विजुअल के हिसाब से फिल्म काफी रिच है और साथ ही एडल्ट कॉन्टेंट भी दिखाने में डायरेक्टर ने कोई कमी नहीं छोड़ी है, लेकिन कनेक्ट कर पान मुश्किल होता है.

अभिनय:
फिल्म दर फिल्म सनी लियोन और बेहतर एक्टिंग करती जा रही हैं जिसका उदाहरण इस फिल्म में आपको देखने को मिलता है, एक बड़ा मोनोलॉग भी है जिसे सनी ने अच्छा निभाया है. वहीं तनुज वीरवानी ने किरदार के हिसाब से अच्छा अभिनय किया है. फिल्म के बाकी सह कलाकारों जैसे नायरा बैनर्जी, नरेंद्र जेटली, खालिद सिद्दीकी और निनाद कामत ने भी अच्छी एक्टिंग की है.

संगीत:
फिल्म का गाना 'दो पेग मार' रिलीज से पहले ही हिट हो गया है, वहीं 'इजाजत' और 'ले चला' भी अच्छे गाने हैं जो फिल्म के दौरान आपको कहानी से जोड़ने की कोशिश करते हैं.

क्यों देखें:
अगर आप एडल्ट हैं और सनी लियोन की फिल्मों के दीवाने हैं तो ही यह फिल्म देखें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay