एडवांस्ड सर्च

पापा की फिल्मों के सेट पर कभी नहीं गई: अतिया शेट्टी

एक्टर सुनील शेट्टी की बेटी अतिया शेट्टी इस हफ्ते रिलीज होने वाली फिल्म 'हीरो' के साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रख रही हैं. इंडस्ट्री में कदम रखने जा रही इस स्टार किड ने अपनी जिदंगी से जुड़ी कई दिलचस्प बातें शेयर की.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
आर जे अालोक [Edited by: पूजा बजाज]मुंबई, 10 September 2015
पापा की फिल्मों के सेट पर कभी नहीं गई: अतिया शेट्टी अतिया शेट्टी

एक्टर सुनील शेट्टी की बेटी अतिया शेट्टी इस हफ्ते रिलीज होने वाली फिल्म 'हीरो' के साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रख रही हैं. इंडस्ट्री में कदम रखने जा रही इस स्टार किड ने अपनी जिदंगी से जुड़ी कई दिलचस्प बातें शेयर की. अतिया शेट्टी संग हुई खास मुलाकात के पेश हैं कुछ दिलचस्प अंश:

आपके नाम 'अतिया' का मतलब क्या है?
मेरे नाम का मतलब है 'गिफ्ट ऑफ गॉड' यानी 'ईश्वर का उपहार'.

फिल्म कैसे मिली आपको?
मै बांद्रा में जिम जाती थी और वहां सलमान सर की बहन अलवीरा भी आया करती थीं, तो उन्होंने सलमान सर को मेरे बारे में बताया क्योंकि उन दिनों 'हीरो' फिल्म के लिए एक्ट्रेस की तलाश जारी थी. फिर सलमान सर ने पापा (सुनील शेट्टी) से बात की. तो सबकुछ बहुत जल्दी हो गया.

फिल्म में आपको 'राधा' का किरदार निभाना था, आपने इस रोल के लिए क्या तैयारियां की?
मेरे किरदार का नाम 'राधा माथुर' है जो एक पॉजिटिव और चुलबुली सी लड़की है. इसके लिए हम लोगों ने बहुत सारी वर्कशॉप की थीं और उसके बाद किरदार पर काम करना शुरू कि‍या. इस दौरान राधा कैसे चलती है, कैसे बात करती है, इन छोटी-छोटी चीजों की तैयारी की.

क्या आप बचपन से ही फिल्में पसंद करतीं थीं?
मुझे एक्टर बचपन से ही बनना था. जब तीन साल की थी तब माधुरी दीक्षित के 'एक दो तीन' वाले गाने पर शीशे के सामने नाचती थी. काजोल और ऐश्वर्या राय बच्च न मेरे आइडल हैं.

कभी पापा (सुनील शेट्टी) की शूटिंग देखने जाती थीं आप?
नही, पापा के सेट्स पर कभी नहीं गई. लेकिन मैंने 12वीं क्लास के बाद पापा को बताया था कि मुझे एक्ट्रेस बनना है. फिर मैंने न्यूयॉर्क जाकर फिल्म स्कूल में जनरल फिल्म के बारे में सीखा. क्योंकि पापा ने कहा कि‍ जिस भी प्रोफेशन में जाना है, उसके बारे में आपको ज्ञान होना चाहिए. तो मैंने डायरेक्शन, स्क्रिप्टिंग, एक्टिंग, एडिटिंग, सब कुछ किया. फिर मुझे फिल्म 'हीरो' का ऑफर मिला.

कभी पापा (सुनील शेट्टी ) से डांट पड़ी?
नहीं कभी नहीं, लेकिन कभी गलती करने पर समझाते जरूर थे.

पापा की फेवरेट फिल्म्स?
'हेरा फेरी', मेरी फेवरेट है. मैं एक्शन पसंद करती हूं लेकिन जब बचपन में पापा किसी को मारते थे तो बहुत अच्छा लगता था लेकिन जब पापा को कोई मारता था तो मुझे बहुत बुरा लगता था. मुझे कॉमेडी काफी पसंद है. पाप की फिल्म 'गोपी किशन', 'आवारा पागल दीवाना' भी मेरी पसंदीदी फिल्मों में से ए‍क है.

आपको वो 'SODA' लिखी हुई शर्ट याद आती है जो आपके पापा ने पहनी थी?
ओह माय गॉड, पता है हम लोग (मैं और मेरा भाई यहां) पिछले महीने पापा के गाने यूट्यूब पर देख रहे थे और पापा से कहा की आप क्या पहनते थे. तो पापा ने कहा की उस वक्त वही स्टाइल था. और अब फिर से वही कपडे फैशन में हैं.

फिल्म का फर्स्ट डे कैसा था?
उस दिन बहुत ही नर्वस थी और मुझे बाहर निकलने का मन नहीं था. मां, पापा, भाई सब वहीं थे. काफी स्पेशल दिन था. जब निखिल सर ने 'एक्शन' बोला तो मैं कॉन्फ‍िडेंट हो गई और जब घर गई तो मां-पापा से कहा की मैं पूरी जिंदगी यही करना चाहती थी. खुद को काफी लकी महसूस कर रही थी.

इंडस्ट्री में कम्पीटीशन को कैेसे देखती हैं आप?
मुझे कोई कम्पीटीशन अभी नहीं लगता, क्योंकि मैं बहुत नई हूं. बहुत कुछ सीखना है, आलिया, श्रद्धा, परिणीति सब आगे हैं.

खाना बनाने का शौक है?
बनाने का तो नहीं, लेकिन खाने का बहुत शौक है. जब मैं न्यूयॉर्क में थी तो मां सीखाती थी. दाल बना सकती हूं, चपाती बिल्कुल नहीं. केक भी बना लेती हूं.

भाई अहान क्या बनना चाहते हैं?
छोटा था तो उसे क्रिकेटर बनना था लेकिन अभी एक्टिंग की तरफ रुझान है.

आपके क्रिटिक कौन हैं?
पापा मेरे सबसे बड़े क्रिटिक हैं.

किन चीजों का शौक है ?
डांस, फ्रेंड्स के साथ हैंगआउट, फिल्म देखना, फुटबॉल, बास्केटबाल, पसंद हैं.

पसंदीदा एक्टर्स?
अभी मुझे रणवीर सिंह काफी पसंद हैं. उनकी एक्टिंग का तरीका मुझे काफी पसंद है. रणबीर कपूर मेरे हमेशा से फेवरेट हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay