एडवांस्ड सर्च

कैंसर पर बोली सोनाली बेंद्रे, मेरे ज़िंदा बचने के सिर्फ 30 फीसदी चांस थे

एक इंटरव्यू के दौरान सोनाली ने बताया कि जब वह इलाज के लिए न्यूयॉर्क पहुंचीं तो डॉक्टर ने उन्हें बताया था कि उनके बचने के सिर्फ 30 फीसदी ही चांसेस थे.

Advertisement
aajtak.in [Edited By:केपी वर्मा]नई दिल्ली, 18 March 2019
कैंसर पर बोली सोनाली बेंद्रे, मेरे ज़िंदा बचने के सिर्फ 30 फीसदी चांस थे सोनाली बेंद्रे फोटो इंस्टाग्राम

सोनाली बेंद्रे हाल ही में कैंसर जैसी घातक बीमारी से उबरी है. न्यूयॉर्क में इलाज के दौरान उनके पति गोल्डी बहल और बेटे ने भरपूर सपोर्ट किया था. एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि जब वे इलाज के लिए न्यूयॉर्क पहुंचीं तो डॉक्टर ने उन्हें बताया कि उनके बचने के सिर्फ 30 फीसदी ही चांसेस थे. सोनाली ने इंटरव्यू में यह भी बताया था कि वह इलाज के लिए अमेरिका नहीं जाना चाहती थीं.

सोनाली बेंद्रे ने कहा- ''मैं इलाज के लिए न्यूयॉर्क नहीं जाना चाहती थी. मेरे पति चाहते थे कि हम न्यूयॉर्क जाए. इसे लेकर मैंने फ्लाइट में उनसे लड़ाई की. मैंने उनसे कहा, आप ऐसा क्यों कर रहे हैं. यहां पर भी अच्छे डॉक्टर हैं. आप मुझे वहां पर क्यों लेकर जा रहे हैं? इसके बाद सब घर, परिवार छोड़कर लगेज पैक करके हम निकल गए. उस वक्त मैं नहीं समझ पा रही थी कि क्या हो रहा था.''

View this post on Instagram

In an ever changing world, it's difficult for mothers to keep abreast about everything. The one way to better prepare ourselves is to learn from each other's struggles. I believe these experiences are crucial. Sharing it with other moms is not only a quickfire way to keep updated but also to share your struggles with those who understand what you're going through. We received a ton of stories from mothers all over the country. While some reiterated the importance of some 'me time', others spoke about the pressure of having to 'know it all'. But the one common sentiment was that, parenting is a collective effort. A mother should be able to say #MujheSabNahiPata / #IDidntKnow without feeling guilty. So to get more mothers involved in this dialogue, I spoke to some tough moms who accepted that they didn't know it all and bravely shared their stories. You too can inspire other moms to speak. So don't be afraid to share or to ask... because honestly Mujhe Sab Nahi Pata. @allout

A post shared by Sonali Bendre (@iamsonalibendre) on

View this post on Instagram

Sometimes, you strike a chord with someone and that bond simply stays for life. @mickeycontractor is just that person for me. We go back a looooong way. The depth and breadth of his knowledge is overwhelming and intriguing at the same time! A man with killer wit and someone who calls a spade a spade. So when we met for a shoot recently, we just picked up from where we had left off... reliving all those memories. One thing hasn't changed... even after all these years, I completely trust his genius. From doing my eyebrows for the VERY first time, to giving me my first quick haircut now that my hair is growing back, I'm glad we've not run out of firsts. I love you, Mickey! It's friends like you who make the journey so beautiful. #FriendsLikeFamily

A post shared by Sonali Bendre (@iamsonalibendre) on

View this post on Instagram

I’ve always believed, when you love what you do - the sky is the limit! My baby sister, @gandhaliparanjape and her husband @jats72 have combined their love for sports and his experience as a sportsman for over 30 years to weave their best story yet. Their sportswear brand @321sportswear has just launched the ‘After-Play & Go Pro’ Collection for young athletes and it is so comfortable! As Gandhali was telling me the other day, from designing to the final making, all of it happens right here in India. I’m sold on this, and so is Ranveer... (He has already made a list of what he wants😁) Can’t wait for you all to try it out! Head to the link in the bio to show some love guys! #321Sportswear #MakeInIndia #YoungAthletes

A post shared by Sonali Bendre (@iamsonalibendre) on

उन्होंने बताया- ''हम न्यूयॉर्क पहुंचे और उसके दूसरे दिन डॉक्टर के पास गए. हमने डॉक्टर को जो टेस्ट की रिपोर्ट भेजी थी उसे डॉक्टर ने अच्छे से देखा और बोला, यह कैंसर का चौथा स्टेज है और आपके बचने की उम्मीद सिर्फ 30 फीसदी है. ये बात सुनकर मैं सन्न रह गई. इस दौरान मैं गोल्डी की तरफ मुड़ी और कहा- भगवान का शुक्र है जो आप मुझे यहां ले आए.'

सोनाली कैंसर की वजह खुद को मानने लगी थी. वह सोचने लगी थी कि उन्होंने कुछ गलत किया है जिसके कारण उन्हें ऐसी बीमारी हुई है. सोनाली ने बताया, ''सभी मुझसे बोलते थे कि तुम्हारी लाइफ स्टाइल ऐसी कभी नहीं रही. आपके साथ यह कैसे हो गया. उस दौरान मैं वास्तव में सोचने लगी थी कि मैंने लाइफ में कुछ गलत किया है इसलिए मेरे साथ यह सब हो रहा है. मैं न्यूयॉर्क में मनोचिकित्सक के पास गई. उस समय मेरे साथ क्या हो रहा था मुझे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था. मैं कभी भी निगेटिव नहीं रही हूं. मैं हमेशा से ही पॉजिटिव विचार वाली रही हूं. इ्न्हीं सवालों का जवाब जानने के लिए मैं मनोचिकित्सक के पास गई थी.''

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay