एडवांस्ड सर्च

Advertisement

भारी बारिश से चार धाम रास्तों में भूस्खलन

पहाड़ी राज्यों में बारिश के चलते जगह-जगह लैंडस्लाइड हो रहा है. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के मार्ग में जगह-जगह भूस्खलन के चलते तीर्थ यात्री मुसीबत में हैं.
भारी बारिश से चार धाम रास्तों में भूस्खलन बारिश के चलते पहाड़ों पर जगह-जगह लैंडस्लाइड हो रहे हैं
सिद्धार्थ तिवारी [Edited By: रोहित गुप्ता]नई दिल्ली, 26 July 2015

पहाड़ी राज्यों में बारिश के चलते जगह-जगह लैंडस्लाइड हो रहा है. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के मार्ग में जगह-जगह भूस्खलन के चलते तीर्थ यात्री मुसीबत में हैं.

गंगोत्री धाम यात्रा मार्ग की बात करें तो यहां पर गंगनानी और सुख्खी टॉप के पास हुए लैंडस्लाइड के साथ साथ उत्तरकाशी में वर्णावत पर्वत पर हो रहे भूस्खलन ने सबको डरा रखा है.

जम्मू कश्मीर में भारी बारिश
जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के रास्ते में इस बार बार-बार देखी जा रही जोरदार बारिश ने कई बार बादल फटने की घटना को अंजाम दिया है. इसके चलते हुई लैंडस्लाइड से जानमाल का नुकसान देखा गया है. जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर इस बार ज्यादा ही लैंडस्लाइड देखा जा रहा है.

पहाड़ों पर इस बार ज्यादा बारिश
हिमाचल में झमाझम बारिश देखी जा रही है. कुल्लू के पास में हाल ही में हुई बादल फटने की घटना ने लोगों को एक बार फिर से डराकर रख दिया है. जानकारों के मुताबिक हिमालय क्षेत्र में इस बार बारिश की एक्टिविटी जोरदार है. खास बात ये है कि इस बार पहाड़ों पर कम समय में ज्यादा बारिश देखी जा रही है. इस वजह से ज्यादातर जगहों पर पहाड़ी रास्तों पर मलबा आ रहा है.

सड़कों से तबाही
इसके पीछे वैज्ञानिक कहीं न कहीं गैर तकनीकी तरीके से बनाई गई सड़कों को जिम्मेदार मान रहे है. ऐसा कहा जा रहा है कि सड़क चौड़ी करने के लिए पहाड़ काटे जा रहे हैं. लेकिन इन पहाड़ों को वैज्ञानिक तरीके से स्थिर नहीं किया जा रहा है. इससे चट्टानों में अस्थिरता बनी रहती है.

नेपाल के भूकंप का असर
जानकारों का कहना है कि अप्रैल में नेपाल में आया जबरदस्त भूकंप हिमालय के एक बड़े हिस्से को अस्थिर कर चुका है. इस अस्थिरता के चलते जबरदस्त मानसून की स्थिति में हिमालय के तमाम इलाके जोरदार लैंडस्लाइड का सामना कर रहे हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay