एडवांस्ड सर्च

भूमि बिल पर फंसी मोदी सरकार का किसान कार्ड, लॉन्च किया किसान चैनल

भूमि बिल पर विवादों में फंसी नरेंद्र मोदी सरकार ने एक साल के जश्न के बहाने किसान कार्ड खेला है. मंगलवार को किसानों की तरक्की के दावे के साथ प्रधानमंत्री ने किसान चैनल लॉन्च किया. इस दौरान पीएम ने कहा कि गांवों के विकास के बगैर देश के विकास अधूरा है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: स्वपनल सोनल]नई दिल्ली, 27 May 2015
भूमि बिल पर फंसी मोदी सरकार का किसान कार्ड, लॉन्च किया किसान चैनल किसान चैनल की लॉन्च‍िंग के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भूमि बिल पर विवादों में फंसी नरेंद्र मोदी सरकार ने एक साल के जश्न के बहाने किसान कार्ड खेला है. मंगलवार को किसानों की तरक्की के दावे के साथ प्रधानमंत्री ने किसान चैनल लॉन्च किया. इस दौरान पीएम ने कहा कि गांवों के विकास के बगैर देश के विकास अधूरा है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 24 घंटे चलने वाले किसान चैनल का उद्धाटन करते हुए पीएम ने कहा कि इस चैनल को किसानों के हितों को ध्यान में रखकर बनाया गया है ताकि उन्हें फायदा मिले. प्रधानमंत्री ने कहा, 'चैनल की लॉन्चिंग पर कई लोगों को लग रहा होगा कि इतने चैनल तो हैं ही फिर इस चैनल का क्या फायदा. लेकिन सच्चाई यह है कि इस चैनल का फायदा है. आज हमारे देश में कई स्पोर्ट्स चैनल हैं, जिसके कारण युवाओं की रुचि विभिन्न खेलों में बढ़ रही है. वे खेल को कैरियर के रूप में अपनाने लगे हैं.'

पीएम मोदी ने कहा कि स्पोर्ट्स चैनल एक बड़ी अर्थव्यवस्था को जन्म दे चुका है. इसी तरह अगर देश को आगे ले जाना है तो गांवों को आगे लाना होगा और अगर गांव को आगे ले जाना है तो किसानों को आगे लाना होगा. पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि किसान चैनल से लोगों में जागरुकता आएगी. किसानों को खेती के बारे में सही जानकारी मिलेगी तो वे ज्यादा अच्छी पैदावार कर सकेंगे.

'कोई अपने बच्चे को किसाना नहीं बनाता'
खेती और किसानों की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश में किसान उपेक्षित हैं और कोई अभिभावक अपने बच्चे को किसान नहीं बनाना चाहता. पीएम ने कहा, 'अब लोग पढ़-लिखकर नौकरी करना चाहते हैं, किसानी नहीं. इस सोच को बदलने की जरूरत है ताकि किसानों में स्वाभिमान जगे. पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने किसानों का स्वाभिमान जगाया था और जय जवान और जय किसान का नारा दिया था.'

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके यहां एक कहावत थी उत्तम कृषि, मध्यम व्यापार और कनिष्ठ नौकरी. इस कहावत को एक बार फिर सच कर दिखाने की जरूरत है. पीएम ने कहा कि इस चैनल से कृषि को उत्तम बनाने में मदद मिलेगी. किसानों को जब वैज्ञानिक तरीके से खेती की जानकारी दी जाएगी तो निश्चित तौर पर उसका फायदा किसानों को मिलेगा.

बीजेपी मुख्यालय में फोटो सेशन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसान चैनल का उद्घाटन करने के बाद सीधे बीजेपी मुख्‍यालय पहुंचे, जहां पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने उनका स्वागत किया. पीएम ने पार्टी मुख्यालय में सेक्रेटरी स्तर के अधि‍कारियों से लेकर चपरासी तक से मुलाकात की. पार्टी मुख्‍यालय के उन्होंने कर्मचारियों के साथ फोटो भी खिंचवाई. इस दौरान नरेंद्र मोदी ने एक-एक करके पार्टी मुख्‍यालय के सभी कर्मचारियों के साथ मुलाकात कर उनका हाल जाना.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay