एडवांस्ड सर्च

एमसीडी चुनाव से पहले नेताओं में दल बदलने की होड़

दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले उम्मीदवारों के बीच सुरक्षित ठिकाना ढूंढ़ने की होड़ मच गई है. सबसे ज्यादा भगदड़ भारतीय जनता पार्टी में मची है. जब से दिल्ली बीजेपी ने अपने मौजूदा पार्षदों को टिकट ना देने का मन बनाया है, तब से दावेदार अपना नया ठिकाना ढूंढ़ने की जुगत में हैं.

Advertisement
अंकित यादव [Edited by: दिनेश अग्रहरि]नई दिल्ली, 07 April 2017
एमसीडी चुनाव से पहले नेताओं में दल बदलने की होड़ कांग्रेस में शामिल हुए बीजेपी नेता

दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले उम्मीदवारों के बीच सुरक्षित ठिकाना ढूंढ़ने की होड़ मच गई है. सबसे ज्यादा भगदड़ भारतीय जनता पार्टी में मची है. जब से दिल्ली बीजेपी ने अपने मौजूदा पार्षदों को टिकट ना देने का मन बनाया है, तब से दावेदार अपना नया ठिकाना ढूंढ़ने की जुगत में हैं.

मंगलवार को बीजेपी में सभी पार्षदों का टिकट काटे जाने से नाराज कालकाजी के गोविंदपुरी वार्ड से पार्षद चंद्र प्रकाश कांग्रेस में शामिल हो गए. अपने समर्थकों के साथ चंद्र प्रकाश पार्टी दफ्तर पहुंचे थे.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया, वहीं पार्षद ने कहा कि उन्हें टिकट का लालच नही है, बल्कि अपने इलाके के विकास की चिंता है. इससे पहले आम आदमी पार्टी के कई पूर्व घोषित उम्मीदवारों और एक विधायक ने ही दल बदल लिया था. जाहिर है आने वाले दिनों में दलबदल के ऐसे किस्से सुनने को मिलते रहेंगे.

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा था कि इस बार उनके उम्मीदवार स्मार्ट होंगे. अधिकतम उम्र 45 साल की होगी और 21 साल के उम्मीदवार भी बीजेपी लिस्ट में दिख सकते हैं. जो चुनाव लड़ने के लिए न्यूनतम उम्र है. तिवारी के मुताबिक ज्यादातर टिकट इसी उम्र के लोगों को दिए जाएंगे. हालांकि कुछ अपवाद हो सकते हैं, जिसमें ज्यादा उम्र के लोगों की उम्मीदवारी पर विचार हो सकता है.

इसके अलावा बीजेपी ने अपना एक अंदरूनी सर्वे भी कराया, इस सर्वे में जिन उम्मीदवारों की रिपोर्ट मजबूत होगी, टिकट बंटवारे में उसको तवज्जो देने की बात थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay