एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मंथन: '26/11 रिपीट न हो ये ज्यादा जरूरी है'

मंथन के पांचवें सत्र 'बॉर्डर पर अच्छे दिन?' में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आजतक के राहुल कंवल से कहा कि पिछले एक साल में इंडियन बॉर्डर पर काफी सुधार हुआ है. भारत में 26/11 जैसी आतंकी घटनाएं रिपीट नहों, ये ज्यादा जरूरी है.
<b>मंथन: '26/11 रिपीट न हो ये ज्यादा जरूरी है'</b> रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर
मुकेश कुमारनई दिल्ली, 22 May 2015

मंथन के पांचवें सत्र 'बॉर्डर पर अच्छे दिन?' में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आजतक के राहुल कंवल से कहा कि पिछले एक साल में इंडियन बॉर्डर पर काफी सुधार हुआ है. भारत में 26/11 जैसी आतंकी घटनाएं रिपीट नहों, ये ज्यादा जरूरी है.

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के उत्पादन पर उन्होंने कहा, 'मेरा पहला लक्ष्य उनकी उत्पादन क्षमता बढ़ना है. इनको कॉरपोरेट की तर्ज पर चलाया जाएगा. लेकिन इनको कॉरपोरेटाइज नहीं किया जाएगा.

सेना द्वारा सीमा पर मानवाधिकार हनन संबंधी एक सवाल पर उन्होंने कहा कि सेना कभी ऐसा नहीं करती है. लेकिन यदि कोई हथियार लेकर सीमा से घुसता है, तो उसे सीधा गोली मार देने का निर्देश है.

उन्होंने कहा कि जून तक चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ पर फैसला हो जाएगा. इस पर हम फीडबैक ले रहे हैं. तीनों फोर्सों के इंटीग्रेशन का काम उनकी जरूरत के हिसाब से किया जाएगा. नेशनल सिक्योरिटी से कोई समझौता नहीं होगा. आर्मी में कम, लेकिन असरदार लोगों की जरूरत है.

अरुणाचल के संबंध में उन्होंने कहा, 'चीन क्या कर रहा है, इससे हमें मतलब नहीं है, हम अपने देश में कभी भी, कहीं भी जा सकते हैं.' कश्मीर में पाकिस्तानी झंडे फहराए जाने को पब्लिसिटी स्टंट बताते हुए उन्होंने कहा कि यदि मीडिया इसे दिखाना बंद कर दे, तो वे लोग ऐसा करना बंद कर देंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay