एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्य हूं: पापी नहीं पाप से घृणा कीजिए

aajtak.in [Edited By: राहुल विश्वकर्मा]नई दिल्ली, 07 February 2018

किसी व्यक्ति में कमी निकालना या किसी की बुराइयों के लिए उसे कोसना ये आसान भी है और आज के दौर की पहचान भी. अगर किसी की कमी के बारे में उसे बताने की बजाए उसे दूर करने का प्रयास किया जाए तो ये समाज अच्छाइयों और अच्छे लोगों से भर जाएगा. किसी की बुराई के लिए उससे नफरत न करें.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay