एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ओलंपिक: योगेश्वर ने जीता कांस्य | वी‍डियो

भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त ने ओलम्पिक खेलों की कुश्ती प्रतियोगिता में फ्रीस्टाइल के 60 किलो वजन वर्ग के रेपेचेज प्ले ऑफ मुकाबले में शनिवार को यहां उत्तर कोरिया के जांग म्यांग री को हराकर कांस्य पदक हासिल किया.
ओलंपिक: योगेश्वर ने जीता कांस्य | <a style='COLOR: #d71920' href='bit.ly/ObEuCd' target='_blank'>वी‍डियो</a> योगेश्वर दत्त
आजतक वेब ब्यरोलंदन, 12 August 2012

भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त ने ओलम्पिक खेलों की कुश्ती प्रतियोगिता में फ्रीस्टाइल के 60 किलो वजन वर्ग के रेपेचेज प्ले ऑफ मुकाबले में शनिवार को यहां उत्तर कोरिया के जांग म्यांग री को हराकर कांस्य पदक हासिल किया.

प्रीक्वार्टर फाइनल में हारने वाले योगेश्वर ने रेपचेज राउंड में एक घंटे से भी कम समय में लगातार तीन जीत हासिल करके लंदन ओलंपिक में भारत को कुश्ती स्पर्धा का पहला और कुल पांचवां पदक दिलाया.

हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले 29 वर्षीय योगेश्वर चार साल पहले बीजिंग ओलंपिक में पदक से चूक गये थे लेकिन यहां उन्होंने शानदार तकनीक और पहलवानी का जज्बा दिखाते हुए लगातार तीन यादगार जीत के साथ कांस्य पदक जीता.

प्रीक्वार्टर फाइनल में हारकर योगेश्वर ने रेपेचेज राउंड में प्रवेश किया था क्योंकि उन्हें प्रीक्वार्टर फाइनल में हराने वाले रूस के बेसिक कुदुखोव फाइनल में पहुंचे थे. रेपेचेज राउंड में योगेश्वर को कांस्य पदक के लिए तीन पहलवानों को हराना था. उन्होंने पहले मुकाबले में पुएर्तो रिको के पहलवान मातोस फ्रेंकलिन गोमेज को 3-0 से जबकि दूसरे दौर में ईरान के पहलवान मसूद इस्माइल पूरजोयबारी को 3-1 से हराया.

इन दो जीतों ने योगेश्वर में पदक जीतने का भरोसा पैदा कर दिया जो तीसरे मुकाबले में उनके प्रदर्शन में भी नजर आया। भारतीय पहलवान ने उत्तर कोरियाई पहलवान को हराकर पदक जीतने का सपना पूरा किया.

कांस्य पदक के मुकाबले में योगेश्वर की शुरुआत खराब रही जब वह पहले गेम में उत्तर कोरियाई प्रतिद्वंद्वी के हाथों पहला अंक गंवा बैठे. हालांकि दूसरे गेम में योगेश्वर ने वापसी की और म्योंग री के साथ कुल स्कोर बराबर कर लिया. अब बारी तीसरे और अंतिम गेम की थी. योगेश्वर ने इस गेम में गजब की चपलता दिखाते हुए लगातार छह तकनीकी अंक हासिल किये और इसी के साथ उनकी जीत पक्की हो गई और तीन बार के ओलंपियन योगेश्वर पदक जीतने में सफल रहे.

बीजिंग ओलंपिक में मामूली अंतर से कांस्य पदक से चूकने वाले योगेश्वर ने शनिवार को दिन के अपने पहले मुकाबले में बुल्गारिया के एनातोली गुइडिया को हराया लेकिन प्री क्वार्टर फाइनल में उन्हें रूस के बेसिक कुदुखोव के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा.

योगेश्वर ने एनातोली के खिलाफ पहला दौर 0-1 से हारने के बाद वापसी करते हुए 3-1 से जीत दर्ज कर ली. अपने दूसरे मुकाबले में योगेश्वर ने रूस बेसिक कुदुखोव के खिलाफ शानदार शुरूआत की और पहले गेम में मुकाबला बराबरी पर रहा लेकिन रूसी पहलवान अंत में एक तकनीकी अंक जुटाने में सफल रहा. अगले गेम में कुदुखोव ने अपनी चपलता के सहारे योगेश्वर पर दो अंक हासिल किये और यह मुकाबला जीत लिया.

इस ओलंपिक में यह भारत का पांचवां और कुश्ती स्पर्धा में पहला पदक है. लंदन ओलंपिक में अब तक निशानेबाज विजय कुमार रजत पदक जबकि निशानेबाज गगन नारंग, बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकाम कांस्य पदक जीत चुके हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay