एडवांस्ड सर्च

लंदन ओलंपिक का समापन, भारत को छह पदक

संगीत की सुरलहरियों, संस्कृति की बानगी पेश करते रंगारंग कार्यक्रम और आसमान को चकाचौंध करने वाली आतिशबाजी के बीच लंदन ने पिछले एक पखवाड़े से जमा दुनिया भर के खिलाड़ियों को भावभीनी विदाई दी जिसके साथ 30वें ओलंपिक खेलों का भी पटाक्षेप हो गया.

Advertisement
भाषालंदन, 14 August 2012
लंदन ओलंपिक का समापन, भारत को छह पदक

संगीत की सुरलहरियों, संस्कृति की बानगी पेश करते रंगारंग कार्यक्रम और आसमान को चकाचौंध करने वाली आतिशबाजी के बीच लंदन ने पिछले एक पखवाड़े से जमा दुनिया भर के खिलाड़ियों को भावभीनी विदाई दी जिसके साथ 30वें ओलंपिक खेलों का भी पटाक्षेप हो गया.

ओलंपिक स्टेडियम में आयोजित रंगारंग समापन समारोह में ब्रिटेन के शीर्ष पॉप सितारों और गायकों ने संगीत की छटा बिखेरी. इस मौके पर दुनिया भर की कई नामी गिरामी हस्तियां मौजूद थी. इस समारोह के साथ मैदान पर 17 दिन तक चली श्रेष्ठता की जंग का भी अंत हो गया जिसमें कई रिकार्ड बने और कई नये सितारे सामने आये.

तीसरी बार ओलंपिक की मेजबानी करने वाले एकमात्र शहर लंदन में हुए इन खेलों में 204 देशों के 10500 खिलाड़ियों ने भाग लिया. अमेरिकी और चीन ने एक बार फिर अपना दबदबा कायम करते हुए पहले और दूसरे स्थान पर कब्जा किया जबकि ब्रिटेन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए तीसरे स्थान पर रहा.

पदक तालिका में अमेरिका शीर्ष पर रहा जिसने 104 पदक जीते. इनमें 46 स्वर्ण, 29 रजत और 29 कांस्य शामिल हैं. चीन 87 (स्वर्ण-38, रजत-27, कांस्य-22) पदक लेकर दूसरे और ब्रिटेन 65 (स्वर्ण-29, रजत-17, कांस्य-19) पदक के साथ तीसरे स्थान पर रहा.

भारत ने छह पदक जीते जो पदकों की संख्या के हिसाब से अब तक का उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. सुशील कुमार ( कुश्ती) और विजय कुमार (निशानेबाजी) को रजत पदक मिले जबकि एम सी मेरीकाम (मुक्केबाजी), गगन नारंग (निशानेबाजी), साइना नेहवाल (बैडमिंटन) और योगेश्वर दत्त (कुश्ती) को कांस्य पदक मिले.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay