एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'राहु काल' में चुनावों का ऐलान, क्या चुनावी चांद को ग्रसेगा राहु?

संजय शर्मा [Edited by: अजीत तिवारी]नई दिल्ली, 10 March 2019

क्या चुनावी चांद को ग्रसेगा राहु? ज्योतिष विज्ञान में इसे महा अशुभ माना जाता है. देवगौड़ा से लेकर जयललिता जैसे नेताओं ने नामांकन पत्र भरने से लेकर शपथग्रहण तक के लिए राहुकाल टाला है. अब देखना होगा कि राहु कटता है या टलता है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay