एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य

aajtak.in [ Edited By: आदित्य बिड़वई ]
24 May 2019
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
1/7
लोकसभा चुनाव में मोदी की प्रचंड लहर देशभर में दिखाई दी. मध्य प्रदेश में कांग्रेस को केवल एक सीट पर संतोष करना पड़ा. यहां की 29 में से 28 सीटों पर भाजपा को जीत मिली. कांग्रेस को मात्र एक छिंदवाड़ा सीट पर जीत मिली. मोदी लहर में कांग्रेस के कई दिग्गज चुनाव हार गए. गुना में ज्योतिरादित्य सिंधिया को पहली बार हार का सामना करना पड़ा तो भोपाल लोकसभा सीट पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चुनाव हार गए. दिग्विजय सिंह के हारते ही मिर्ची बाबा यानि महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद सोशल मीडिया पर ट्रेंड होने लगे.
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
2/7
लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद की लोग तलाश रहे हैं. लोग उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन कहा जा रहा है कि वो अंडरग्राउंड हो गए हैं.
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
3/7
दरअसल, महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद वही मिर्ची बाबा हैं, जिन्होंने दिग्विजय सिंह की जीत के लिए लाल मिर्च का हवन किया था.
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
4/7
स्वामी वैराग्यानंद ने कुल 5 क्विंटल मिर्च डालकर हवन किया था और यह प्रतिज्ञा ली थी कि यदि भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय हारते हैं तो वो हवन कुंड में ही समाधि ले लेंगे.
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
5/7
अब तक दिग्विजय सिंह की हार के बाद लोग स्वामी वैराग्यानंद की तलाश कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि स्वामी को हम खोज रहे हैं. उनका फोन भी बंद आ रहा है. आखिर वो है कहां?
दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
6/7
मालूम हो कि भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस ने जब पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था तो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने उन्हें टक्कर देने के लिए साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट दिया था.

दिग्विजय की हार के बाद गायब हो गया ये बाबा, बताता था भविष्य
7/7
प्रज्ञा सिंह ठाकुर हिन्दुत्व के नाम पर वोट मांग रही थीं. जबकि सैकड़ों साधु भी दिग्विजय सिंह के लिए लोगों से वोट देने की अपील कर रहे हैं. इसी कड़ी में कंप्यूटर बाबा ने दिग्विजय सिंह की जीत के लिए अनुष्ठान किया, लेकिन उनकी हार हो गई.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay