एडवांस्ड सर्च

Advertisement

कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान

aajtak.in
09 October 2019
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
1/8
घर में चाबी या जेब में पैसे रखकर भूल जाना कोई आम बात नहीं है. जिस उम्र में लोगों की याद्दाश्त दुरुस्त होनी चाहिए उस उम्र चीजों को भूल जाना गंभीर बीमारी का लक्षण हो सकता है. टीनेजर्स में होने वाली इस बीमारी को डेमेंशिया या अल्जाइमर कहा जाता है. आइए जानते हैं आखिर इतनी कम उम्र में इस बीमारी की वजह क्या होती है.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
2/8
स्ट्रेस-
शायद आपको मालूम नहीं कि मानसिक अवसाद धीरे-धीरे आपकी ब्रेन मेमोरी को खोखला करता है. ज्यादा स्ट्रेस लेने की वजह से लोग डेमेंशिया और अल्जाइमर के शिकार हो जाते हैं.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
3/8
मल्टी टास्किंग-
एक वक्त में कई कामों में उलझे रहने से भी आपकी ब्रेन मेमोरी प्रभावित होती है. साल 2017 की एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब 2.5 प्रतिशत लोगों की मेमोरी मल्टी टास्किंग की वजह से प्रभावित होती है.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
4/8
कम नींद आना-
अगर आप भी अनिद्रा (कम नींद लेना) के शिकार हैं तो संभल जाइए, क्योंकि इसका असर आपकी ब्रेन मेमोरी पर पड़ता है. नींद कम आने की वजह से न सिर्फ आपका स्वास्थ्य खराब होता है, बल्कि धीरे-धीरे आपके लिए चीजों को याद रखना मुश्किल हो जाता है.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
5/8
डिप्रेशन या अन्य मानसिक रोग-
अगर आप लंबे समय तक डिप्रेशन या किसी दूसरी मानसिक दिक्कतों का सामना करते हैं, तो भी आप डेमेंशिया या अल्जाइमर का शिकार हो जाते हैं.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
6/8
मेडिकेशन-
बेचैनी (एंजाइटी) या पार्किंसंस जैसी बीमारियों का सामना कर रहे लोगों को जो दवाइयां दी जाती हैं, वो भी हमारी मानसिक सेहत पर असर डालती हैं. इस बीमारी में दी जाने वाली दवाइयों का असर सीधा हमारे दिमाग पर पड़ता है.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
7/8
थायरॉयड-
फोकस न कर पाना या ब्रेन मेमोरी से जुड़ी अन्य समस्याओं का कनेक्शन थायरॉयड से भी हो सकता है. ये भी जान लेना जरूरी है कि थायरॉयड की ज्यादातर शिकार महिलाएं ही होती हैं.
कम उम्र में ही है भूलने की बीमारी तो हल्के में ना लें, हो जाएं सावधान
8/8
यंगस्टर्स में मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं को बढ़ते देख सोशल मीडिया पर भी लोग इससे निपटने के सुझाव दे रहे हैं. टिक-टॉक पर हाल ही में कई लोगों ने ऐसे वीडियो अपलोड किए थे जो लोगों को डिप्रेशन और स्ट्रेस से बाहर लाने में मददगार थे. वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे पर ये वीडियो काफी शेयर भी किये गए.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay