एडवांस्ड सर्च

Advertisement

हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम

aajtak.in
19 August 2019
हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम
1/5
हल्दी एक बहुत ही अच्छी जड़ी बूटी है इसे मसालों की रानी के नाम से भी जाना जाता है. क्या आप जानते हैं कि आपके किचन में मौजूद हल्दी न सिर्फ खाने का जायका बढ़ाती है, बल्कि चोट लगने या छोटी-मोटी इंजरी में भी यह बड़ी कारगर है. आइए जानते हैं इसके 5 फायदे.
हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम
2/5
- हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीबायोटिक, एंटीफंगल और एन्टीफ्लामेट्री गुण होते हैं, जो आपको इंजरी के समय रिकवरी करने में मदद करते हैं.
हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम
3/5
- हल्दी प्रोटीन, फाइबर, नियासिन, विटामिन ई पोटेशियम, कैल्शियम, तांबा, आयरन, मैग्नीशियम और जस्त से भरपूर है.
हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम
4/5
- हल्दी शरीर की सूजन, घाव, त्वचा के रोग, अवसाद बुढ़ापे के लक्षण, पाचन तंत्र में मददगार साबित होती है और कैंसर तक को रोकने में मदद करती है.
हल्दी यूं ही नहीं कहलाती मसालों की रानी, संजीवनी बूटी से नहीं कम
5/5
- हल्दी की तासीर गर्म होती है जिसके कारण इसे एक कप गर्म दूध में एक चम्मच मिलाकर पीने से शरीर का दर्द खत्म हो जाता है.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay