एडवांस्ड सर्च

Advertisement

डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर

09 July 2019
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
1/6
बारिश का मौसम शुरु होते ही डेंगू , मलेरिया के मच्छर अपना प्रकोप फैलाने लगते हैं. मच्छर के काटने से डेंगू, दिमागी बुखार और मलेरिया जैसे घातक रोग होने का खतरा बना रहता है. ऐसे में जरूरत है खून पीने वाले इन दुश्मनों से समय रहते निपट लिया जाएं. आइए आज आपको बताते हैं 5 ऐसे पौधों के बारे में जो आपकी बालकनी की खूबसूरती बनाए रखने के साथ  मच्छरों को भी आपसे दूर रखेंगे.   
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
2/6
गेंदा-
पीले रंग के गेंदे के फूल न सिर्फ आपकी बालकनी की शोभा बढ़ाते हैं बल्कि इसकी सुगंध से मक्खी- मच्छर भी घर से दूर रहते हैं. बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि गेंदे का पौधा दो प्रकार का होता है- अफ्रीकन और फ्रेंच. बता दें, ये दोनों पौधे ही मॉस्किटो रिप्लीयन्ट हैं. गेंदे का फूल पीले से डार्क ऑरेंज और लाल रंग का हो सकता है. 
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
3/6
लैवेंडर-
लैवेंडर के पौधे को मच्छरों का दुश्मन माना जाता है. बाजार में मिलने वाले हानिकारक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट त्वचा और सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं. लेकिन मच्छरों को खुद से दूर रखने के लिए इस पौधे का इस्तेमाल सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है. केमिकल फ्री मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे स्किन पर भी लगाया जा सकता है.
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
4/6
तुलसी-
घर में रोजाना आप जिस तुलसी के पौधे की पूजा करते हैं वह भी मॉस्किटो रिप्लीयन्ट की तरह काम करता है. आपकी सेहत से लेकर मच्छरों को दूर भगाने तक तुलसी बेहद लाभदायक है. मच्छरों को घर से दूर रखने के लिए एक गमले में तुलसी का पौधा लगाकर रखें.
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
5/6
रोजमेरी-
रोजमेरी फूल का रंग नीला होता है. यह भी गेंदे और लैवेंडर की ही तरह अपने आप में एक प्राकृतिक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है. मच्छरों से बचने के लिए रोजमेरी मॉस्किटो रिप्लीयन्ट की 4 बूंदों को 1 चौथाई जैतून के तेल के साथ मिलकर त्वचा पर लगाएं.
डेंगू-मलेरिया का खतरा, घर में लगाएं ये 5 पौधे, नहीं फटकेंगे मच्छर
6/6
सिट्रोनेला ग्रास-
सिट्रोनेला ग्रास भी मच्छरों को दूर रखने का एक अच्छा तरीका है. इस ग्रास से निकलने वाला सिट्रोनेला ऑयल मोमबत्ती, परफ्यूम, लैम्प्स आदि हर्बल प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जाता है.खास बात यह है कि सिट्रोनेला ग्रास डेंगू, मलेरिया पैदा करने वाले मच्छरों को भी आपसे दूर रखने में मदद करती है.

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay