एडवांस्ड सर्च

नयी नौकरी चाहिये तो देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र

राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति में काम कर चुके लोगों के नयी नौकरी का इंटरव्यू देने जाने पर उनसे चरित्र प्रमाण पत्र की मांग की जा रही है जिसमें यह लिखा हो कि उनके खिलाफ सीबीआई की कोई जांच जारी नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
भाषानई दिल्‍ली, 09 March 2011
नयी नौकरी चाहिये तो देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र

राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति में काम कर चुके लोगों के नयी नौकरी का इंटरव्यू देने जाने पर उनसे चरित्र प्रमाण पत्र की मांग की जा रही है जिसमें यह लिखा हो कि उनके खिलाफ सीबीआई की कोई जांच जारी नहीं है.

घोटालों से दागदार राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति में काम कर चुके लोगों को नयी जगह पर नौकरी पाने के लिये इन सवालों का सामना करना पड़ रहा हैं.

आयोजन समिति के पूर्व कर्मचारियों ने बताया कि खेलों के आयोजन के दौरान हुयी कथित गड़बड़ी की सीबीआई जांच और आयोजन समिति के कुछ अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें मजबूरन नौकरी छोड़ना पड़ रहा है.

अपनी इस परेशानी का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि अगर उन्हें अपनी किसी परेशानी को आयोजन समिति के अधिकारियों को बताना हो तो वह हमेशा उनकी पहुंच के बाहर होते हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें बिना किसी पूर्वसूचना और पर्याप्त मुआवजा दिये ही उनकी छुट्टी की जा रही है.

चपरासी का काम करने वाली लाजवंती को कल काम से निकाल दिया गया. उन्होंने बताया ‘यह बहुत अमानवीय है. वे (आयोजन समिति अधिकारी) हमें बिना किसी पूर्व सूचना के जाने को कह रहे हैं. मैं एक या दो दिन में कैसे नयी नौकरी ढूंढ़ सकती हूं? मेरा पूरा परिवार संकट में हैं.’

तकनीकी विभाग में प्रशासकीय सहयोगी के तौर पर काम करने वाले विनय कुमार ने बताया ‘उन्होंने मेरा नाम निकाले जाने वाले कर्मचारियों के साथ नोटिसबोर्ड पर लगा दिया. एक दिन जब मैं आफिस आया तो मैंने अपना नाम उसमें पाया. मुझे बगैर सूचित किये ही संगठन को छोड़ने को कहा गया.’

पूर्व कर्मचारियों ने बताया कि उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और आयोजन समिति पर लगे घोटाले के दाग के कारण उन्हें नयी नौकरी मिलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay