एडवांस्ड सर्च

‘ओलंपिक’ में कुछ शर्तों के साथ कृपाण रखने की अनुमति

ब्रिटेन ने सिख खिलाड़ियों और दर्शकों को लंदन में 2012 में होने जा रहे ओलंपिक खेलों के दौरान कुछ शर्तों के साथ कृपाण रखने की अनुमति दे दी है.

Advertisement
aajtak.in
भाषालंदन, 21 November 2011
‘ओलंपिक’ में कुछ शर्तों के साथ कृपाण रखने की अनुमति लंदन ओलंपिक

ब्रिटेन ने सिख खिलाड़ियों और दर्शकों को लंदन में 2012 में होने जा रहे ओलंपिक खेलों के दौरान कुछ शर्तों के साथ कृपाण रखने की अनुमति दे दी है.

बहुप्रतीक्षित खेलों के दौरान सुरक्षा व्यवस्था अत्यंत कड़ी होगी लेकिन सिखों को इससे थोड़ी छूट मिलेगी.

ओलंपिक को धर्म के अनुकूल बनाने के प्रयासों के तहत सिखों को तब तक कृपाण रखने की अनुमति होगी जब तक वह उनके कपड़ों के अंदर छिपी रहे. साथ ही उन्हें यह भी बताना होगा कि वह पवित्र प्रतीक ‘पंच ककार’ में से अन्य चार अर्थात ‘कड़ा’ और ‘कच्छा’ पहने हुए हैं और ‘कंघा’ तथा ‘केश’ रखे हुए हैं.

मीडिया की खबरों में कहा गया है कि कृपाण की लंबाई अधिकतम तीन इंच होगी.

लंदन 2012 ओलंपिक की एक प्रवक्ता ने कहा ‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि खेलों तक सभी की पहुंच हो. सुरक्षा जांच के दौरान कृपाण पेश की जाएगी लेकिन इसे खोला नहीं जाएगा.’ उन्होंने कहा ‘हमारे सुरक्षा दल ने गहन विचार विमर्श के बाद यह नीति तय की है.’

प्रवक्ता ने कहा कि सुरक्षा दल ने सभी पक्षों के लोगों से बातचीत की और यह फैसला हमारी विभिन्न धर्मों के प्रति आदर की नीति से जुड़ा है. सुरक्षा के मद्देनजर ब्रिटिश सरकार ने हाल ही में घोषणा की थी कि पूर्वी लंदन के स्ट्रैटफोर्ड में बनाए गए ओलंपिक पार्क जैसे आयोजन स्थलों के समीप सैनिक सतह से हवा में मार करने वाले प्रक्षेपास्त्रों के केंद्रों पर मुस्तैद रहेंगे.

इसके अलावा, सेना के हेलीकॉप्टरों से लंदन में हवाई गश्त जारी रहेगी और गश्त में स्नाइपर्स भी शामिल होंगे.

वर्ष 2001 में हुई जनगणना के अनुसार, ब्रिटेन में सिखों की आबादी 0.6 फीसदी है और यह वहां चौथी सबसे बड़ी धार्मिक आबादी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay