एडवांस्ड सर्च

अमेरिका ने एक्‍यू खान की रिहाई पर चिंता जताई

पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक अब्‍दुल कादिर खान की रिहाई ने अमेरिका सहित ब्रिटेन और फ्रांस के होश उड़ा दिए हैं.

Advertisement
aajtak.in
आज तक ब्‍यूरोइस्‍लामाबाद, 07 February 2009
अमेरिका ने एक्‍यू खान की रिहाई पर चिंता जताई

पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक अब्‍दुल कादिर खान की रिहाई ने अमेरिका सहित ब्रिटेन और फ्रांस के होश उड़ा दिए हैं. सबकी चिंता यही  है कि परमाणु हथियारों की तस्करी करने के आरोपी ए क्यू खान की रिहाई का अंजाम क्या होगा.

2004 से परमाणु हथियारों की तकनीक की तस्करी के आरोप में नजरबंद वैज्ञानिक अब्दुल कदिर खान को पाकिस्तान की अदालत ने रिहा कर दिया लेकिन इनकी रिहाई मात्र से ही महाशक्तियों के माथे पर भी आ गया है पसीना.अमेरिका कहता है कि पाकिस्तान के दागी वैज्ञानिक अब्दुल कदीर खान की रिहाई अब भी कम खतरनाक नहीं. फांस का कहना है कि डॉ खान की रिहाई चिंताजनक है. ब्रिटेन का तो एक कदम आगे जाकर कहना है कि आईएईए को पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक से ये पूछताछ की इजाजत मिलनी चाहिए कि उन्होंने परमाणु हथियारों की तस्करी किन मुल्कों को की है.

परमाणु हथियारों की तस्करी करने के आरोपी एक वैज्ञानिक की रिहाई और पूरी दुनिया खतरा महसूस करने लगी है. आजाद हुआ ये वैज्ञानिक अब क्या गुल खिलाएगा, तमाम मुल्क अब इसे लेकर पसोपेश में है. भारत को तो पाकिस्तान की नीयत पर भी शक है.

विदेश राज्यमंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि अब्‍दुल कादिर का आरोपों से बरी होना बतलाता है कि पाकिस्‍तानी हूकूमत की मंशा क्‍या है, यह एक धोखा है.

दुनिया डरती है तो डरे, खतरा महसूस करती है तो करे लेकिन 2004 से नजरबंद रहे डॉ कदिर खान अपनी रिहाई से बेहद खुश हैं. रिहा होने के बाद अब्दुल कदीर खान ने कहा कि मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि बाहर के देश मेरे बारे में क्‍या कहते हैं. मुझे अपने देश और देशवासियों से मतलब हैं.

सबसे बड़ा सवाल है पूरी दुनिया पर अब भी जिस एक शख्स का इतना खौफ है. जिस शख्स की रिहाई भर से अमेरिका फ्रांस, ब्रिटेने जैसे मुल्क परेशान हो उठे हैं उसे पाकिस्तान की अदालत ने तस्कर मानने से भी कैसे इनकार कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay