एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'विपक्ष भारत को अमीर-गरीब में बांटना चाहता है'

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दलित बस्तियों में जाने और उनके घरों में रात गुजारने के उनके कदम की आलोचना करने वालों को करारा जवाब देते हुए आरोप लगाया कि विपक्ष भारत को अमीर और गरीब के बीच में बांटने की कोशिश कर रहा है.
'विपक्ष भारत को अमीर-गरीब में बांटना चाहता है'
भाषासमालखा (हरियाणा), 21 October 2009

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दलित बस्तियों में जाने और उनके घरों में रात गुजारने के उनके कदम की आलोचना करने वालों को करारा जवाब देते हुए आरोप लगाया कि विपक्ष भारत को अमीर और गरीब के बीच में बांटने की कोशिश कर रहा है.

हरियाणा विधानसभा के 13 अक्‍टूबर को होने वाले चुनाव के सिलसिले में चंडीगढ़ से 175 किलोमीटर दूर एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, ‘‘विपक्ष चाहता है एक भारत अमीरों के लिए हो और एक गरीबों के लिए हो.’’ उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी समाज के हर वर्ग, खास तौर से गरीबों और वंचितों की बेहतरी के लिए काम करने को वचनबद्ध है.

अपने भाषण में उन्होंने कहा कि जनता ने ‘‘इंडिया शाइनिंग’’ का नारा देने वालों की विचारधारा को नकार दिया. राहुल ने कहा, ‘‘राजग ने 2004 में इंडिया शाइनिंग का नारा दिया और आपने उसे नकार दिया क्योंकि भारत तो सिर्फ कुछ के लिए ही चमक रहा था, जिनमें किसान, गरीब और दलित शामिल नहीं था. 2009 में भी, जब उन्होंने आतंकवाद और पाकिस्तान जैसे मुद्दे उठाए, आपने उन्हें घर वापस भेज दिया.’’

दलितों के घर जाने, उनके साथ भोजन करने और उनके घरों में रात गुजारने के उनके कदम की आलोचना करने वालों को करारा जवाब देते हुए नेहरू गांधी खानदान के चश्मो चिराग ने कहा, ‘‘जो लोग दलितों, गरीबों और ग्रामीणों के घर नहीं जाते, वह टेलीविजन से ही नारे बनाते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे नारे टेलीविजन से नहीं आते. हमारे नारे गांवों से आते हैं, गरीबों और झुग्गी बस्तियों में रहने वालों के घरों से आते हैं.’’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay