एडवांस्ड सर्च

अरूणाचल प्रदेश: विधानसभा के लिए 3 निर्विरोध निर्वाचित

अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री दोरजी खांदू और सत्तारूढ़ कांग्रेस के दो अन्य प्रत्याशी विधानसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं.

Advertisement
भाषाईटानगर, 01 October 2009
अरूणाचल प्रदेश: विधानसभा के लिए 3 निर्विरोध निर्वाचित

अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री दोरजी खांदू और सत्तारूढ़ कांग्रेस के दो अन्य प्रत्याशी विधानसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं. कल नाम वापसी का अंतिम दिन था और अब राज्य की शेष 57 सीटों के लिए कुल 154 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

तीन सदस्‍य निर्विरोध निर्वाचित
खांदू राज्य की मुक्तो विधानसभा सीट से निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं. उनके अलावा तवांग शहर से वर्तमान विधायक सेवांग धोंडुप और लुमला सीट से, पहली बार चुनाव लड़ रहे जाम्बे ताशी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं. ये तीनों ही सीटें तवांग जिले में आती हैं. तीनों प्रत्याशियों के खिलाफ कोई भी प्रतिद्वन्द्वी नहीं खड़ा था जिसकी वजह से तीनों निर्विरोध निर्वाचित हुए.

सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है कांग्रेस
राज्य में 13 अक्तूबर को विधानसभा चुनाव होने हैं और कांग्रेस ने सभी 60 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए हैं. राकांपा ने 36 प्रत्याशी और तृणमूल कांग्रेस ने 26 प्रत्याशी खड़े किए हैं. तृणमूल कांग्रेस इस पूर्वी सीमावर्ती राज्य में पहली बार चुनाव लड़ रही है.

घाटे में है भाजपा
मुख्य विपक्षी दल भाजपा को दलबदल का झटका लगा है क्योंकि उसके नौ विधायक और पूर्व लोकसभा सदस्य किरन रिज्जू कांग्रेस में चले गए हैं. पार्टी ने केवल 18 सीटों पर ही प्रत्याशी खड़े किए हैं. वर्ष 2004 में उसने 39 प्रत्याशियों को टिकट दिया था. जद यू ने विधानसभा चुनाव में अपने तीन प्रत्याशी उतारे हैं जबकि एक क्षेत्रीय पार्टी ‘‘पीपुल्स पार्टी ऑफ अरूणाचल’’ ने 11 प्रत्याशियों को टिकट दी है. चुनाव मैदान में तीन निर्दलीय भी हैं. वर्ष 2004 के चुनाव में दो सीटें जीतने वाली एक क्षेत्रीय पार्टी ‘‘अरूणाचल कांग्रेस’’ (एसी) ने एक भी प्रत्याशी खड़ा नहीं किया है. सत्तारूढ़ कांग्रेस का दावा है कि एसी का उसके साथ विलय हो गया है.

दो वर्तमान विधायकों को टिकट नहीं
कांग्रेस ने अपने वर्तमान 13 में से 11 विधायकों को टिकट नहीं दिया. टिकट से वंचित ये विधायक तृणमूल कांग्रेस में चले गए हैं. इनमें से दस विधायक तृणमूल के प्रत्याशी हैं और एक विधायक राकांपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहा है. पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 34 सीटें, भाजपा ने नौ, राकांपा और एसी ने दो दो सीटें जीती थीं तथा 13 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay