एडवांस्ड सर्च

खैरलांजी हत्‍याकांड में 8 लोग दोषी करार

बहुचर्चित खैरलांजी हत्‍याकांड में भंडारा फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने 8 लोगों को दो‍षी करार दिया है. कोर्ट ने 3 अन्‍य लोगों को सबूत के अभाव में बरी कर दिया है. कोर्ट दोषियों को 20 सितंबर को सजा सुनाएगी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.inनागपुर, 15 September 2008
खैरलांजी हत्‍याकांड में 8 लोग दोषी करार

बहुचर्चित खैरलांजी हत्‍याकांड में भंडारा फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने 8 लोगों को दो‍षी करार दिया है. कोर्ट ने 3 अन्‍य लोगों को सबूत के अभाव में बरी कर दिया है. कोर्ट दोषियों को 20 सितंबर को सजा सुनाएगी.

भंडारा के खैरलांजी में लगभग दो साल पहले एक दलित परिवार के चार सदस्‍यों की हत्‍या की घटना ने पूरे देश को हिला दिया था. 29 सितंबर 2006 को उन्‍मादी भीड़ ने दलित किसान भैयालाल भूटमांगे के घर पर हमला कर उनके परिवार के चार सदस्‍यों की हत्‍या कर दी थी.

भैयालाल के अलावा उसकी पत्‍नी सुरेखा, बेटी प्रियंका और दो बेटे दिलीप और रोशन की इस दिल दहला देने वाले कांड में मौत हो गई थी. इस घटना को सभी पार्टियों ने राजनीतिक रंग देने की कोशिश की थी. राज्‍य सरकार ने इस घटना की जांच स्‍थानीय पुलिस से राज्य के अपराध अन्वेषण विभाग को सौंप दी और उसके बाद इस मामले को सीबीआई के सुपुर्द करने के आदेश जारी कर दिया.

सीबीआई ने इस मामले में 27 दिसंबर 2006 को न्‍यायाधीश एस एस दास के सामने आरोपपत्र पेश किया. लेकिन इस घटना का कोई भी चश्‍मदीद गवाह न होने की वजह से कोर्ट से कोई सफलता नहीं मिली. ट्रायल कोर्ट में इस घटना के आने के बाद 74 लोगों के बयान दर्ज किए गए. दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला 15 सितंबर तक के लिए सुरक्षित रखा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay