एडवांस्ड सर्च

Advertisement

वारदात: असलहों के शौक से बच नहीं सकीं नेताओं की ये 'रिवॉल्वर रानी'

aajtak.in [Edited by: राहुल झारिया]नई दिल्ली, 10 May 2019

सुरक्षा, हथियार, हथियारों का लाइसेंस, बॉडीगार्ड ये सब कायदे से इंसानी जान की हिफाजत के लिए हैं, लेकिन कई बार हिफाजत की ये जरूरी चीजें अक्सर शौक और जलवे में तब्दील हो जाती हैं और बात जब अपने नेताओं के जलवे की हो तो फिर तो कहना ही क्या. मगर अब श्रीमती नेताजी भी इसी जलवे के पीछे भागने लगें तब मामला थोड़ा अजीब हो जाता है. लोकसभा चुनाव में ऐसे बहुत से नेता मैदान में हैं जिनके पास छह-छह हथियार हैं. मगर खबर उनकी नहीं है. खबर उनकी पत्नियों की है. क्योंकि हथियारों के शौक और जलवे से वो भी खुद को बचा नहीं सकीं.

Security, weapons, arms licenses, bodyguards are all for the protection of human life, but many of these essential things of protection often turn into hobbies. Now the political are also fond of keeping arms. In this Lok Sabha election, there are many leaders in the field who have many weapons. But this news is about the wives of the leaders who could not save themselves from the hobby of arms.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay