एडवांस्ड सर्च

Advertisement

वारदात: मोबाइल फोन से खुलेंगे उन्नाव कांड के राज

aajtak.inनई दिल्ली, 31 July 2019

कानपुर-रायबरेली हाईवे पर जिस ट्रक ने उन्नाव रेप पीड़ित की कार को टक्कर मारी उसके डाइवर और क्लीनर दोनों के पास मोबाइल फोन थे. हादसे से पहले और हादसे के बाद उनके नंबरों पर बातचीत भी हुई. पर क्या ये सिर्फ रुटीन बातचीत थी? क्या उन्नाव से पीड़ित की कार का कोई पीछा कर रहा था? क्या पीछा करने वाले की ट्रक ड्राइवर या क्लीनर से मोबाइल पर बात हो रही थी? हादसे के वक्त हादसे की जगह से करीब पचास किलोमीटर के दायरे में कितने मोबाइल फोन एक्टिव थे? अगर यूपी पुलिस ने मोबाइल में छुपे इन राज को जान लिया तो समझ लीजिए कि हादसे का सच सामने आ जाएगा.

In this episode of Vardat we will tell you how with the help of mobile phone UP Police could expose the truth behind the accident of Unnao rape victim. Both, driver and cleaner of the truck had phone with them. Before the accident and after the accident, mobile phones of both of them were used for calling. If UP police tries to finds out with whom those two were talking to and how many mobile phones were active within the radius of 50 kilometres of the spot? Then the trust behind the accident will be exposed.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay