एडवांस्ड सर्च

Advertisement

वारदात: 18 साल पहले दुश्‍मनी से शुरू हुई थी उन्नाव कांड की कहानी

aajtak.inनई दिल्ली, 02 August 2019

ये एक ऐसी वारदात है जिसमें मुलजिम सत्ताधारी पार्टी का ताकतवर विधायक है. लोकल पुलिस जिसने कभी पीड़ित लड़की की फरियाद ही नहीं सुनी. इस मामले में कोर्ट को दखल देना पड़ा तब जाकर कहीं FIR दर्ज हुई. आज से ठीक एक साल पहले जुलाई 2018 में CBI चार्जशीट दाखिल करती है. साल बीत गया लेकिन मुकदमे की एक भी सुनवाई शुरू नहीं हुई. आलम तो ये रहा कि इस मुकदमे की सुनवाई के लिए कोई जज ही नहीं मिला. ये न होता अगर साल भर पहले ही सरकार और प्रशाशन जाग जाता. लेकिन अब उच्च न्यायालय ने कहा कि इस केस का फैसला 45 दिनों के भीतर करना होगा.

In this episode of Vardaat we will talk about Unnao Rape case. In Unnao rape case there are two sides, one side is politically affiliated whereas the other side belongs to weaker section of the society. For years, UP Government shown reckless behavior in the case, and today when the Supreme Court interfered, UP Government woke up from deep sleep. Here, watch inside story of Unnao Rape case.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay