एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ज़ाया ना होने पाए 'उसका' इस तरह से जाना...

आजतक ब्‍यूरोनई दिल्ली, 03 January 2013

कड़ाके की ठंड 43 साल का रिकॉर्ड तोड़ चुकी है, लेकिन ये ठंड उन लोगों की हौसला नहीं तोड़ सकी जिन्होंने उस अनजान लड़की के जख्मों को अपना बना लिया और उसे इंसाफ की दिलाने के लिए सड़कों पर खड़े होकर जंग लड़ रहे हैं. उस लड़की की खातिर आवाजें हर तरफ से उठ रही हैं और उन्हीं आवाजों के बीच छुपी एक पिता की गुजारिश भी हमने सुनी है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay