एडवांस्ड सर्च

क्या पकड़ी जाएंगी ये शातिर चोरनियां?

दिल्ली के सफदरजंग इलाके के एसडीए मार्केट में मौजूद एक नामी रेस्टोरेंट स्मूदी फैक्ट्री के पास लगे सीसीटीवी कैमरे ने चोरी की एक वारदात को कैद कर लिया.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in[Edited By: रोहित उपाध्याय]नई दिल्ली, 24 September 2015
क्या पकड़ी जाएंगी ये शातिर चोरनियां? सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चोरनियों की करतूत

दिल्ली के सफदरजंग इलाके में सुबह के समय चोरनियों की एक गैंग ने एक दुकान का शटर तोड़कर लाखों रुपये कैश पर हाथ साफ कर दिया. सीसीटीवी कैमरों ने चोरी की इस वारदात को कैद कर लिया.

सीसीटीवी कैमरे की घड़ी में सुबह के 5 बजकर 49 मिनट का समय हुआ था तभी एक-एक कर रेस्टोरेंट के बाहर पांच महिलाएं नजर आती हैं. इनमें कुछ सलवार कमीज पहने हैं, जबकि कुछ लहंगा चोली में, ये सभी की सभी महिलाएं पहले इधर-उधर देखती हैं और फिर रेस्टोरेंट के बाहर बने बरामदे पर आकर बैठ जाती हैं.

इनमें तीन महिलाएं दुकान की शटर से बिल्कुल सट कर बैठती हैं, जबकि बाकी की दो उनसे एक कदम आगे. लेकिन ये महिलाएं यहां यूं ही नहीं पहुंची, बल्कि इस वक्त एक इनके दिमाग में एक खतरनाक प्लान चल रहा है. और अगले ही पल प्लान के मुताबिक शटर से सट कर बैठनेवाली तीनों महिलाएं दुपट्टे से अपना चेहरा छिपाने लगती हैं, जबकि आगे बैठी दो महिलाएं अपने पास मौजूद शॉल का घेरा कुछ इस तरह बनाती हैं कि किसी को पीछे बैठी तीनों महिलाएं नजर ना आ सके.

उधर, शॉल का घेरा बनते ही तीनों शटर की तरफ मुड़ कर शुरू हो जाती हैं. गौर से देखिए ये तीनों दरअसल दुकान का शटर तोड़ने की कोशिश कर रही हैं, ताकि चोरी के लिए अंदर दाखिल हुआ जा सके. इस पूरी कोशिश के दौरान शॉल का घेरा बना रहता है. लेकिन जैसे ही शटर तोड़ने का काम पूरा होता है, सभी आपस में बात करती हैं. और पोजिशन बदल लेती हैं. ये दरअसल टूटे हुए शटर के नीचे से दुकान के अंदर घुसने की तैयारी है और इसके लिए गैंग की सबसे दुबली-पतली लड़की को चुना जाता है.

अब शटर तोड़नेवाली तीनों महिलाएं फिर से शटर ऊपर की ओर खींचती है, ताकि एक लड़की दुकान के अंदर दाखिल हो सके. जबकि एक महिला फिर से शॉल का घेरा बना कर पीछे चल रही तमाम हरकत पर पर्दा डालने की कोशिश करती रहती है. और पलक झपकते ही दुकान में दाखिल होने का काम पूरा हो जाता है.

जहां चोरी के इरादे से एक लड़की अंदर दाखिल हो जाती है. ये लड़की हाथ में टार्च लिए पहले पूरे माहौल का जायजा लेती है और अंदर किसी के मौजूद ना होने तसल्ली होते ही सीधे एक्शन में आ जाती है.

मुंह में टॉर्च दबा कर अपने साथ लाए औजार से एक दराज खोलती है लेकिन कुछ नहीं मिलने पर फांद कर रेस्टोरेंट के दूसरी तरफ यानी काउंटर के अंदर चली जाती है. उधर, रेस्टोरेंट के बाहर बाकी की चोरनियां सोने का नाटक करती हुई अंदर चल रहे खटर-पटर का जायजा लेने की कोशिश करती रहती हैं.

उधर, दुकान के अंदर घुसी लड़की फांद कर दुकान के दूसरे हिस्से में जाने से दूसरे कैमरे से तो बाहर निकल जाती है, लेकिन तीसरा कैमरा उसकी करतूत कैद करने लगता है. अब वो पलक झपकते उसी अंदाज में काउंटर पर बना दराज यानी गल्ला तोड़ देती है और सीधे कैश पर हाथ साफ करने लगती है. और चंद सेकेंड्स में अपना ये काम पूरा करते ही फिर से शटर के पास पहुंचती हैं.

उधर, बाहर उसके आने का इंतजार कर रही औरतें अंदर से इशारा मिलते ही फिर से एक्शन में आ जाती हैं. उसी तरह शॉल का घेरा बनता है, तीन औरतें शटर उठाती हैं और चोरी के लिए अंदर घुसी लड़की रुपए-पैसों समेत घिसट कर बाहर निकल आती हैं. और फिर फौरन रफूचक्कर हो जाती हैं. और इस तरह फकत साढ़े पांच मिनट में तकरीबन डेढ़ लाख रुपए पर हाथ साफ कर दिए जाते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay