एडवांस्ड सर्च

Advertisement

संजय सिन्हा की कहानी: बहता सोना

संजय सिन्हा की कहानी: बहता सोना
तेज ब्यूरोनई दिल्ली, 16 October 2019

आज संजय सिन्हा हमें जो कहानी सुनाने जा रहे हैं उसका नाम है बहता सोना. इस कहानी के जरिए संजय सिन्हा बता रहे हैं कि अपनी संतान के प्रति हमें पूरी जिम्मेदारी रखनी चाहिए. पर संतान नौकरानी के भरोसे पले और कैमरे से उस पर नज़र रखनी पड़े तो उस काम का क्या फायदा? न तो आप पूरी तरह ऑफिस में हैं, न आप घर में. बेटा नौकरानी के दिए संस्कार सीख रहा है. नौकरानी का बनाया खाना खा रहा है. नौकरानी अगर कोई कहानी सुनाती होगी, तो नौकरानी की सुनाई कहानियां सुन कर बड़ा हो रहा है. संतान को संस्कार देना माता पिता का काम है पर लोग पैसा कमाने में लग जाते हैं और सब कुछ भूल जाते हैं. देखें ये वीडियो.

Sanjay Sinha tells you a story titled Behta Sona. The story talks about the importance of parenting. With the help of this story, Sanjay Sinha tell in order to earn more money people are leaving their kids on domestic helps. The kid is learning things with the help of house helps not his parents and it affects his upbringing. Listen in to him here.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay