एडवांस्ड सर्च

Advertisement

संजय सिन्हा की कहानी: कलावती का दर्द

तेज़ ब्यूरोनई दिल्ली, 06 July 2019

संजय सिन्हा की कहानी में आज देखिए कलावती का दर्द. मेरे बड़े बाबूजी के घर हर पूर्णमासी को सत्यनारायण भगवान की पूजा होती थी. सुबह-सुबह नहा कर मैं भी आंगन में होने वाली पूजा में बैठ जाता था. मेरा ध्यान कहानी पर रहता था. आपको तो पता ही है कि संजय सिन्हा को कहानियों से कितना प्रेम है. पंडित जी कहानी सुनाते. एक व्यापारी था. उसकी पत्नी का नाम था लीलावती. उसकी कोई संतान नहीं थी. किसी ने बताया कि भगवान विष्णु यानी सत्यनारायण की पूजा करने से संतान की प्राप्ति होगी. उसने कहा कि अगर उसे संतान होगी तो वो अवश्य सत्यनारायण भगवान की पूजा कराएगा. इस कहानी में आगे क्या हुआ, देखिए संजय सिन्हा की कहानी में.

Today in Sanjay Sinha Ki Kahani, watch Kalawati ka Dard. My uncle worships Satyanarayana at every Puranamasi. I used to sit in the courtyard of house after bathing early morning. I used to keep my full attention at the story. Like you all know that how much Sanjay Sinha loves the stories. Priest continues the story- Once there was a trader. The name of his wife was Kalawati. Watch the video to know the whole story.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay