एडवांस्ड सर्च

Advertisement

संजय सिन्हा की कहानी: जीवन एक खास उत्सव है, उसके आगे कुछ भी नहीं

तेज ब्यूरो [Edited by: देवांग दुबे]नई दिल्ली, 10 March 2019

रिश्ते संजय सिन्हा की कहानी में आज संजय सिन्हा एक गुरुजी की कहानी सुना रहे हैं. एक गुरुजी अपने कुछ शिष्यों के साथ नदी में स्नान के लिए गए. सभी स्नान कर ही रहे थे. गुरुजी को नदी के बीच में एक बहता हुआ कंबल नजर आया. गुरुजी के मन में आया कि अगर उस कंबल को ले लिया जाए तो आने वाले सर्दी में उन्हें और उनके शिष्यों को काफी आराम हो जाएगा. उनके मन में वो ख्याल आया और वह धीरे धीरे तैरते हुए कंबल लेने के लिए बीच नदी में पहुंच गए. आगे की कहानी जानने के लिए देखिए ये पूरा वीडियो.

In todays episode of rishtey Sanjay Sinha is telling the story of a Guruji. A Guruji went to the river with some of his disciples to take a bath. All were bathing. Guruji noticed a blanket flowing in the middle of the river. Guruji thinks if that blanket is taken, he and his disciples will be quite relaxed in the coming winter. He slowly reached to the middle of the river to take the blanket.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay