एडवांस्ड सर्च

Advertisement

PCR: तिहाड़ में पैसे और पावर से मिलता है सबकुछ

दिल्ली आजतक [Edited By:हर्षिता पाण्डेय]नई दिल्ली, 05 January 2019

क्या रुपये-पैसे और रसूख के दम पर जेल में बैठे-बैठे भी फाइव स्टार लाइफ़ जिया जा सकता है? क्या जेल में बैठे-बैठे में किसी से मोबाइल फ़ोन पर आराम से घंटों बात की जा सकती है? क्या जेल में बैठे-बैठे भी गुनहगार अपना गैंग चला सकते हैं? ये सवाल बड़े अजीब हैं, क्योंकि इन सवालों का जवाब हां में हो ऐसा मुमकिन नहीं लगता. लेकिन देश के सबसे हाई सिक्योरिटी जेलों में से एक तिहाड़ में इन दिनों यही मुमकिन है. पैसा बोल रहा है और गुनहगारों ने कारागार को ही ऐशगाह बना लिया है. और ये बात हम नहीं कह रहे, बल्कि जेल में इंटरसेप्ट किए गए फ़ोन कॉल्स की रिकॉर्डिंग और एक जज की इनवेस्टिगेशन रिपोर्ट बता रही है.

Is it possible to live luxurious life of 5 star hotels in jail? Is it possible to talk to anyone over a mobile phone for hours, in jail? Is it possible for a gangster to supervise his gang from prison? All these questions are weird, but you know what is weirder than this, an affirmation to all these questions. Yes, all this is happening in the most high security prison of the country. In Tihar jail, gangsters and culprits are enjoying all these fun. We are not saying this, but an investigation report of a judge is saying this.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay