एडवांस्ड सर्च

Advertisement

धर्म: गंगा दशहरा का क्या है पौराणिक महत्व?

धर्म: गंगा दशहरा का क्या है पौराणिक महत्व?
aajtak.in [Edited By: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 11 June 2019

कल कल बहती गंगा... वो गंगा जिसके हर एक बूंद में समाहित है अमृत. उस निर्मल गंगा की धारा कल और अधिक चमत्कारी हो जाएगी. भक्तों की मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाली हो जाएगी. क्योंकि कल है गंगा दशहरा और कल ही के दिन मां गंगा साक्षात धरती पर आईं थीं. मोक्षदायिनी गंगा के धरती पर अवतरण के पीछे क्या पौराणिक महत्व है और क्या है इसके पीछे की कहानी. देखिए इस वीडियो में.

Originating in the Gangotri glaciers, river Ganga flows through a distance of 2525 kms through the states of Uttarakhand, Uttar Prades, Bihar, Jharkand and joins the Bay of Bengal in the state of West Bengal. In a country like India whose economy is mainly based on agriculture, river Ganga plays an important role. Tomorrow is Ganga Dussehra. this is the day when Goddess Ganga came on earth for the first time. In this episode of Dharam you will get to know about the mythological importance of life line of India, Ganga.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay