एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दस्तक: जम्मू कश्मीर में सियासी उबाल, राज्यपाल ने भंग की विधानसभा

सईद अंसारी [Edited By:दीपक कुमार]नई दिल्ली, 22 November 2018

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी के सरकार बनाने के मंसूबों पर पानी फिर गया है. राज्यपाल ने जम्मू कश्मीर विधानसभा भंग कर दी है जिसके बाद सरकार बनने की सारी संभावनाएं खत्म हो गई हैं. इससे पहले पीडीपी की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था. मुफ्ती ने 'आजतक' से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा था कि उन्होंने नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस के समर्थन पत्र के साथ राज्यपाल को चिट्ठी लिख दी है. इधर पीडीपी में बगावत होने की भी खबर आई. पीडीपी विधायक इमरान अंसारी ने दावा किया कि उनके साथ 18 विधायक हैं. उन्होंने कहा कि हम भी राज्यपाल के पास सरकार  बनाने का दावा पेश करेंगे.

As both PDP chief Mehbooba Mufti and People Conference leader Sajad Lone staked claim to form the government in Jammu and Kashmir on Wednesday, Governor Satyapal Malik dissolved the Legislative Assembly in the evening. In a statement a few hours later, Governor Malik said that his decision to dissolve the assembly with immediate effect was influenced by various factors, including extensive horse-trading and the impossibility of forming a stable government by coming together of political parties with opposing political ideologies.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay