एडवांस्ड सर्च

Advertisement

10 तक: BMC के सामने दो ही रास्ते... करो या डूब मरो

10 तक: BMC के सामने दो ही रास्ते... करो या डूब मरो
चित्रा त्रिपाठीनई दिल्ली, 03 July 2019

मुंबई के आंसू बादल हो गए हैं. महाराष्ट्र के कई शहरों में बादलों ने ऐसा कहर बरपाया है कि जीना मुहाल हो गया है. मुंबई और आसपास के इलाकों में मंगलवार देर रात से जबरदस्त बारिश हो रही है, जिसकी वजह से कई घटनाएं हो गई हैं. दीवार गिरने के कारण 27 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ गई है. कई ट्रेनें, फ्लाइट रद्द कर दी गई हैं या फिर उनका समय बदला गया है. 24 साल से बीएमसी पर शिवसेना और बीजेपी का एकछत्र राज है. तो सवाल है कि कौन है इसका कसूरवार.

Incessant rains claimed 27 lives in Maharashtra, including 18 in a wall collapse in Mumbai. The authorities in the city and adjoining regions have asked people to avoid stepping out of their houses. But the question comes who will take the responsibility of this situation. Why the administration was not prepared. Both Shiv Sena and BJP are shifting blame on others. Who will save Mumbai from rain fury.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay