एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दंगल: दीदी-मोदी का संग्राम कहां तक जाएगा?

aajtak.in [Edited By: हर्षि‍ता पाण्डेय]नई दिल्ली, 15 May 2019

कल अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा के बाद बंगाल के सियासी माहौल में और तनाव बढ़ गया है. अब से थोड़ी देर पहले PM नरेंद्र मोदी ने बशीरहाट में रैली में कहा कि टीएमसी (TMC) के गुंडे विनाश करने उतरे हैं. उन्होंने कहा कि ममता को हार की परछाईं दिखने लगी है.PM मोदी ने ममता बनर्जी पर सीधे-सीधे हमला करने का आरोप मढ़ा. इससे पहले बीजेपी (BJP) अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि सीआरपीएफ (CRPF) ना होती तो उनका भी बचना मुश्किल होता. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने PM नरेंद्र मोदी और अमित शाह को गुंडा कहकर संबोधित किया है. कुल मिलाकर दोनों ओर से चुनावी जंग सीधे-सीधे दुश्मनी में बदलती दिखाई पड़ रही है. बंगाल में अब तक सभी चरणों में हिंसा हुई है, और ऐसे में कल की घटना के बाद 19 मई की वोटिंग को लेकर चुनाव आयोग की चुनौती और ज्यादा बढ़ गई है.इसीलिए आज हम बहस में पूछ रहे हैं,कि क्या ये चुनाव नहीं, लड़बो, मारबो, पीटबो का कॉन्टेस्ट हो रहा है?

The political tension in West Bengal has reached to next level after the vandalism during the road show of Amit Shah. Earlier today, PM Narendra Modi while addressing a rally at Bashirhat said that the TMC goons have come on roads to spread destruction. He added that Mamata Banerjee has started seeing the shadow of her defeat. Before this, BJP President Amit Shah said that had it not been for the CRPF, I would have not been saved. On the other hand, Bengal CM Mamata Banerjee has called BJP President Amit Shah and PM Modi goons. All in all the political heat from both the sides have reached on its verge. Till now the violence has took over all the polling phase in West Bengal. Under such scenario, the polling that will take place on May 19 has put a bigger challenge before the Election Commission. Today, in Dangal we will discuss is there any contest of creating violence is going on in West Bengal. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay