एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दंगल: मध्यस्थता से होगा राम मंदिर का फैसला?

रोहित सरदाना [Edited By: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 08 March 2019

अयोध्या विवाद एक बार फिर बातचीत की टेबल पर पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट ने आज विवाद के निपटारे के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस कलीफुल्लाह की अगुवाई में तीन सदस्यीय पैनल बनाया जो 8 हफ्ते के भीतर बातचीत से सुलह का प्रयास करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने जहां बातचीत को एक मौका दिया है, वहीं ये भी कहा है कि इन 8 हफ्तों में मुकदमे से जुड़े सारे कागजात तैयार कर लिए जाएं. यानी कोर्ट 8 हफ्तों में अगर बातचीत से बात नहीं बनी तो खुद सुनवाई और फिर फैसले के लिए तैयार है. लेकिन इस सबके बीच चुनाव प्रक्रिया बीतने की संभावना है. दंगल में आज सवाल ये कि क्या मध्यस्थता से होगा राम मंदिर का फैसला?

The Supreme Court today constituted a three members panel led by former Supreme Court Justice Kalifulla to resolve the dispute, which would try to reconcile negotiations within 8 weeks. While the Supreme Court has given an chance to the dialogue, it has also said that in all these 8 weeks, all the papers related to the lawsuit should be prepared. Today we will discuss on question in the our show Dangal, whether the decision of the Ram temple will be from mediation?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay