एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दंगल: 1999 के कंधार कांड से 2019 में वोट लेंगे?

रोहित सरदाना [Edited By: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 13 March 2019

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र के बैन का फैसला होना है, लेकिन उससे पहले देश में 2 दशक पहले हुई उसकी रिहाई को लेकर राजनीति गर्म है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी साल 1999 के कंधार कांड में मसूद अजहर की रिहाई को लेकर NSA अजित डोभाल का नाम घसीट रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरी बीजेपी को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं. 1999 में इंडियन एयरलाइंस का विमान IC 814 अगवा हुआ था, जिसके बदले भारत सरकार को मसूद अजहर समेत 3 खूंखार आतंकियों को छोड़ना पड़ा था.  आतंकियों को छोड़ने से पहले तत्कालीन वाजपेयी सरकार पर बेहद दबाव था, क्योंकि 176 यात्रियों और 15 क्रू मेंबर्स की जान खतरे में थी.

The fate of the proposal to designate Jaish-e-Mohammed chief Masood Azhar as a global terrorist by the United Nations Security Council will be known soon. The proposal was moved by France, UK and the US. Before this politics started in India over release of Masood Azhar two decade ago. Congress President Rahul Gandhi targeted National Security Advisor Ajit Doval. He also attacked Prime minister Narendra Modi and BJP. For more detail watch the full video of Dangal.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay