एडवांस्ड सर्च

Advertisement

चाल चक्र: कैसे देंगी देवी स्कंदमाता उत्तम संतान का वरदान

तेज ब्यूरो [Edited By: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 10 April 2019

चाल चक्र में आज हम बात करेंगे देवी स्कंदमाता के स्वरूप की. मां स्कंदमाता की पूजा करके कैसे संतान संबंधी समस्याओं का समाधान चुटकियों में हो सकता है. नवरात्रि के पांचवे दिन शक्ति स्कंदमाता की पूजा अर्चना की जाती है भगवान स्कंद अर्थात कार्तिकेय की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा. देवी स्कंदमाता कुंडली के गुरु ग्रह को नियंत्रित करती हैं जिससे कि  गुरु ग्रह शुभ प्रभाव देने लगता है. स्कंदमाता की पूजा अर्चना करके कुंडली के पंचम भाव को ठीक किया जा सकता है.  जिससे संतान न होने की समस्या तथा संतान की उन्नति में आ रही बाधा को खत्म किया जा सकता है. देवी की पूजा से ज्ञान और विवेक  की बढ़ोतरी के साथ साथ मान सम्मान में खूब बढ़ोतरी होती है.

Today in this episode of Chaal Chakra we will talk about Goddess Skandamata. On the fifth day of Navratri, Goddess Shakti Skandamata is worshiped. Goddess Skandmata governs the planet of the horoscope. know more about the significance of Goddess Skandmata. Also know you daily horoscope. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay