एडवांस्ड सर्च

Advertisement

चाल चक्र: वैवाहिक जीवन में खटास लाने वाले ग्रह और युति

तेज ब्यूरो [Edited By: हर्षिता पाण्डेय]नई दिल्ली, 07 February 2019

चाल चक्र में आज हम आपको बताएंगे  कैसे करें दांपत्य जीवन को मधुर? वैवाहिक जीवन में खटास सप्तम भाव पर शनि मंगल सूर्य राहु आदि की दृष्टि होने से आती है.  सप्तम भाव के स्वामी का छठे आठवें बारहवे  घर में जाने से भी वैवाहिक जीवन खराब हो जाता है. सप्तम भाव में सूर्य राहु या चंद्र केतु का ग्रहण योग हो.  सातवें भाव में गुरु राहु का चांडाल होने से या पापी ग्रह शनि मंगल सूर्य आदि बैठने से  दांपत्य जीवन में खटास आती है.  कभी-कभी पति के पत्नी के द्वारा छोटी-छोटी गलतियां भी वैवाहिक जीवन को खराब कर देती हैं.  बृहस्पति और शुक्र पीड़ित होने से भी  दांपत्य जीवन में मधुरता खत्म हो जाती है.

Today in Chaal Chakra we will tell you how to smoothen your married life. The bitterness in the married life comes because of the eye of Saturn, Mars, sun Rahu on the seventh house. Sometimes, even a small mistake could ruin the married life, if your Jupiter and Venus are victimized, then this adds bitterness to your married relationship. Watch Video

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay