एडवांस्ड सर्च

Advertisement

एस्ट्रो अंकल: शनि की महिमा क्या है और महत्व क्या है?

तेज ब्यूरो [Edited By: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 01 June 2019

एस्ट्रो अंकल में आज हम बात करेंगे शनि को प्रसन्न करने की जिससे अकाल मृत्यु के भय को टाला जा सकता है और जीवन को सुखी व समृद्ध बनाया जा सकता है. सभी लोगों  के जीवन में सही या गलत कर्म करना और उस कर्म का फल देना शनि के हाथ में ही है इसलिए शनि ग्रह को कर्म का कारक माना गया है.  शनि ग्रह को कुंडली में दशम भाव और अष्टम भाव के साथ साथ आजीविका और मृत्यु का कारक माना गया है इसलिए बिना शनि के शुभ हुए रोजगार मिलना बहुत ही मुश्किल होता है. शनि दंड देने में किसी भी तरीके का भेदभाव नहीं करते हैं  इसलिए ज्यादातर लोग भय के कारण शनि की उपासना करते हैं.

In this episode Astro Uncle will tell you how to please Lord Shani to avoid the fear of death and to live life with happiness and prosperity. Every action of people is observed by Lord Shiva and he gives fruit as per the good and bad deeds. It is believed that one cannot get job without Lord Shani. Lord Shani does not discriminate because of which people worship him out of fear.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay