एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्य हूं: कर्म संवारेंगे आपका भाग्य

तेज ब्यूरो [Edited by: विशाल कसौधन] 11 April 2019

मैं भाग्य हूं. आपकी किस्मत. आपकी तकदीर. मुझे आपने अपने जन्म का साथी माना है. यानी वह साथी जो आपको जन्म से मिला है. पर मैं आपकी सोच को बदलना चाहता हूं. मैं आपको सच बताना चाहता हूं. मैं आपके जन्म का नहीं, कर्म का साथी हूं. मैं वह हूं, जो कर्मों के आधार पर आपका साथ देता हूं. अगर आप अच्छे कर्म करेंगे तो मैं आपके लिए अच्छा हूं. अगर बुरे तो बुरा हूं.

I am a fate. Your Luck. Your fate. You have considered myself a fellow of your birth. That is the companion you got from birth. But I want to change your thinking. I want to tell you the truth. I am not your birth partner, I am a partner of karma. I am the one who cooperates with you on the basis of Karma. If you do good Karma then I am good for you. If bad, then I am bad.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay