एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्‍य हूं: 'कर्म' है आपके 'भाग्य' का विधाता

तेज ब्यूरो [Edited by- नदीम अनवर]नई दिल्ली, 21 June 2019

आपकी तकदीर, आपका मुकद्दर है. आप अक्सर ये सोचते हैं कि आपके साथ वही होता है जो आपके भाग्य में लिखा होता है. पर सच्चाई ये है कि आप जैसा कर्म करते हैं वैसा ही आपका भाग्य हो जाता है. कर्म सबसे बलवान होता है. इसीलिए भाग्य के नहीं कर्म के भरोसे रहिए. तो सुनिए इसी बात को समझाती आज की कहानी और साथ ही जानिए आपका का राशिफल.

Life is a long journey and your destiny is your fate. Maybe you often think that whatever happens in life that is the part of destiny and it is already written. But the real truth is that your act or Karma decides your fate. Karma is the strongest. It is only Karma which decides your destiny. To understand this, watch this story in our show Main Bhagya Hoon.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay